यूपी में अखिलेश की विपक्ष को एक करने की कोशिश विफल, कांग्रेस, बसपा ने बनाई दूरी.

अखिलेश यादव

यूपी में अखिलेश की विपक्ष को एक करने की कोशिश विफल, कांग्रेस, बसपा ने बनाई दूरी. समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव द्वारा विपक्ष को एकजुट करने की कोशिश नाकाम साबित हुई है। इस बैठक में बसपा तो आयी नहीं, लेकिन विधानसभा चुनाव में साथ लड़ी कांग्रेस ने भी इस बैठक से किनारा किया। ऐसे में प्रदेश की दो लोकसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव में विपक्षी एकता की उम्मीद अब कम ही है।

लखनऊ स्थित जनेश्वर मिश्रा ट्रस्ट में ईवीएम के विरोध में विपक्ष को एकजुट करने के लिए समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सर्वदलीय बैठक बुलाई है। इस बैठक में बैलेट पेपर से वोटिंग की मांग को लेकर आंदोलन चलाने के लिए मंथन किया जाना था साथ ही गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा सीट पर होने वाले उपचुनाव के लिए भी आगे की रणनीति तैयार की जानी थी। सपा प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम की ओर से कांग्रेस, बीएसपी, रालोद समेत सभी विपक्षी दलों को बुलावा भेजा था। शुरूआत में बीएसपी ने बैठक में हिस्सा नहीं लेने के संकेत दे दिए थे। लेकिन सपा की सहयोगी रही कांग्रेस ने भी इस बैठक से दूरी बनाई।

असल में बैठक का न्यौता सभी विपक्षी दलों को अखिलेश यादव की तरफ से भेजा गया था। ऐसा माना जा रहा था कि उपचुनाव से पहले शायद विपक्ष एकजुट हो जाए और सभी विपक्षी दल एक ही प्रत्याशी उतारकर बीजेपी के सामने चुनौती पेश करें। ताकि भाजपा को घेरा जा सके। अगर संपूर्ण विपक्ष एक होकर गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ता है तो बीजेपी के सामने परेशानी खड़ी हो जाती। लेकिन ऐसा हो न सका। इससे पहले बिहार में राजद के प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने इस तरह की कोशिश पटना में की थी। लेकिन बसपा ने इस बैठक से किनारा किया था हालांकि अखिलेश इस बैठक में हिस्सा लेने के लिए पटना गए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

GALIYARA