विधानसभा में उठा आईएएस अनुराग तिवारी की मौत का मामला

विधानसभा में चौथे दिन की कार्यवाही शुरू होते ही विपक्ष ने कर्नाटक कैडर के आईएएस अनुराग तिवारी की संदिग्ध मौत को लेकर हंगामा किया। वहीं कानून व्यवस्था के मुद्दे पर बसपा ने सदन के वॉकआउट किया। विपक्ष का कहना था कि इस मामले की जांच होनी चाहिए। सदन में नेता प्रतिपक्ष राम गोविंद चौधरी ने आईएएस अनुराग तिवारी की मौत को हत्या
बताते हुए सदन से वॉक आउट की धमकी दी।

यह भी पढ़े:-लखनऊ-सड़क के किनारे मृत मिला आईएएस अफसर का शव

विधानसभा सत्र की कार्यवाही शुरू होते ही लखनऊ में कर्नाटक कैडर के आईएएस की संदिग्ध मौत का मुद्दा विपक्ष ने उठाया। इसके जवाब में योगी सरकार ने मामले में कर्नाटक की कांग्रेस सरकार के घेरने की कोशिश की। संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना ने कर्नाटक की कांग्रेस सरकार को घेरते हुए कहा कि आईएएस अनुराग के परिजनों के मुताबिक वह कर्नाटक सरकार में हजारों करोड़ के घोटाले में खुलासा करने वाले थे।

उन्होंने कहा कि 4 डॉक्टरों के पैनल से पोस्टमार्टम कराकर विसरा सुरक्षित कराया गया है। आईएएस की मौत के मामले में निष्पक्ष कार्रवाई हो रही है।उधर बसपा ने कानून व्यवस्था को लेकर सदन से वॉक आउट किया। बसपा का कहना था कि प्रदेश में कानून व्यवस्था चरमरा गयी है।

बसपा ने विधानसभा में गोरखपुर के चिल्लूपार से विधायक और बाहुबली नेता हरिशंकर तिवारी के बेटे विनय शंकर तिवारी को पुलिस पर जानबूझकर प्रताड़ित करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि पुलिस ने विधान सभा सदस्य की गरिमा का ख्याल भी नहीं रखा। विनय शंकर तिवारी ने सरकार पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि राजनीतिक द्वेष के कारण मेरे ऊपर फर्जी एफआईआर दर्ज हो सकती है और ये भी हो सकता है कि मेरी हत्या भी करवा दी जाए। बसपा के लालजी वर्मा ने कहा कि सरकार विपक्ष को दबाने का प्रयास कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

GALIYARA