तीन तलाक के बिल के खिलाफ मुस्लिम पर्सनल बोर्ड, पीएम से मिलेगा बोर्ड.

तीन तलाक के बिल के खिलाफ मुस्लिम पर्सनल बोर्ड, पीएम से मिलेगा बोर्ड.ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने तीन तलाक पर केंद्र सरकार के पेश किए बिल को सुप्रीम कोर्ट के दिए फैसले की भावना के खिलाफ बताया। बोर्ड का कहना है कि मुस्लिस महिलाएं इस बिल के खिलाफ हैं औ यह बिल शरीयत के खिलाफ है।

बोर्ड ने आज लखनऊ में एक आपात बैठक बुलाई।  बैठक के बाद बोर्ड ने नए कानून लाने पर सवाल उठाया। बोर्ड ने कहा कि पहले से मौजूद कानून काफी थे। बोर्ड ने बिल को बोर्ड ने कहा कि बिल मुस्लिम महिलाओं के खिलाफ है। ये शरीयत के खिलाफ है और मुस्लिम पर्सनल लॉ में हस्तक्षेप है। बोर्ड ने बिल को ड्राफ्ट करते समय मुस्लिम पक्ष को शामिल ना करने पर सवाल उठाया। साथ ही कहा कि बिल को ड्राफ्ट करते समय मुस्लिम महिलाओं के लिए काम करने वालों से भी बात नहीं की गई। बोर्ड की तरफ से ख़लीलुल रहमान सज्जाद नौमानी ने कहा कि इस बिल को तैयार करने में कोई भी कोई प्रक्रिया नहीं अपनाई गई।

असल में तीन तलाक पर केंद्र सरकार की ओर से प्रस्तावित कानून में सजा के प्रावधान को लेकर पर्सनल लॉ बोर्ड अब तक चुप था। लेकिन कोर्ट के फैसलों और केंद्र सरकार के सख्त रुख के बाद बोर्ड ने इस मुद्दे पर इमरजेंसी बैठक बुलाने का फैसला किया था। बैठक में फैसला किया कि मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के इस स्टैंड से अध्यक्ष जल्द ही प्रधानमंत्री को अवगत कराएंगे और उनसे दरख्वास्त करेंगे कि इस बिल को वापस लिया जाए। बैठक में में वर्किंग कमेटी के 51 सदस्यों को बुलाया गया है. बैठक में एमआईएमआईएम के असदुद्दीन ओवैसी भी पहुंचे। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

GALIYARA