यूपी में पहली बार सड़कों का होगा थर्ड पार्टी परीक्षण.

समाजवादी पौष्टिक आहार योजना

यूपी में पहली बार सड़कों का होगा थर्ड पार्टी परीक्षण. उत्तर प्रदेश में योगी सरकारी सड़कों के निर्माण में होने वाले भ्रष्टाचार को रोकने के लिए सड़कों को थर्ड पार्टी परीक्षण कराएगी। अब चाहे सड़कों का निर्माण हो, सेतु निर्माण हो या भवनों का निर्माण। इन सभी निर्माण कार्यों का सरकार थर्ड पार्टी परीक्षण करेगी।

प्रदेश में योगी सरकार बनते ही कई अहम फैसले किए। इसमें सड़कों का निर्माण भी था। लेकिन सड़क बनाने के लिए अफसरों ने जमकर लूट खसोट की। यहां तक भी राज्य में गड्डामुक्त करने में लोक निर्माण विभाग के अफसरों ने जमकर खेल खेला और महज एक महीने के दौरान सड़कों के ठीक होने के सर्टिफिकेट दे दिए। हाल ही में सरकार ने विभाग के करीब दो दर्जन अभियंताओं  को जबरन सेवानिवृत किया। बहरहाल उत्तर प्रदेश में सड़कों के निर्माण कार्य में पीडब्ल्यूडी पहले ही नई तकनीक के इस्तेमाल की शुरुआत कर चुका है, ताकि उच्च गुणवत्ता और कम लागत के साथ सड़क निर्माण किया जा सके।

अब इसी कड़ी में अगला कदम उठाते हुए एक अहम फैसला किया है कि अब पीडब्ल्यूडी और उसकी सहयोगी निर्माण इकाइयों सेतु निगम और राजकीय निर्माण निगम के सभी निर्माण कार्यों का थर्ड पार्टी इंस्पेक्शन कराया जाएगा, ताकि निर्माण कार्य पूरा होने से पहले ही उसकी गुणवत्ता सुनिश्चित की जा सके। निर्माण कार्य के दौरान ही उसकी गुणवत्ता को सुनिश्चित करने के लिए आईआईटी (इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी), एनआईटी (नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी), सीआरआरआई (सेंट्रल रोड रिसर्च इंस्टीट्यूट),नेशनल टेस्ट हाउस (भारत सरकार),एनआईटीएचई (नेशनल इंस्टीट्यूट फ़ॉर ट्रेनिंग ऑफ हाइवे इंजीनियर्स) औक प्रदेश के प्रतिष्ठित राजकीय इंजीनियरिंग कॉलेज या अन्य प्रतिष्ठित राजकीय संस्थाओं से थर्ड पार्टी इंस्पेक्शन कराया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

GALIYARA