यूपी सरकार ने विधानसभा में पेश किया यूपीकोका बिल

योगी सरकार

यूपी सरकार ने विधानसभा में पेश किया यूपीकोका बिल. ,सरकार ने संगठित अपराध पर लगाम लगाने के मकसद सेयूपीकोका विधेयक को आज विधानसभा में पेश किया। हालांकि आज इस पर चर्चा नहीं हो सकी। कल इस पर चर्चा होगी। विपक्ष ने इस बिल का विरोध करते हुए इसे वापस लेने की मांग की।

यूपीकोका को लेकर विपक्ष सरकार को घेर रहा है। विपक्ष का कहना है कि विरोधियों को परेशान करने के लिए सरकार यह कानून बना रही है। पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि विरोधियों को डराने के लिए यूपीकोका बिल लाया गया है। उन्होंने कहा कि यूपीकोका का इस्तेमाल विरोधियों पर होगा। अखिलेश ने कहा बीजेपी कहती थी एनकाउंटर से कानून-व्यवस्था ठीक होगी, लेकिन कुछ नहीं बदला। गवर्नर हाउस और सीएम हाउस के पास हत्या हो रही है। सरकार ज़िम्मेदार अधिकारियों को चार्ज दे तब कानून-व्यवस्था ठीक होगी। उन्होंने कहा कि सरकार को 100 नंबर पर ध्यान देना होगा और 109 नंबर की व्यवस्था को और बेहतर करना होगा। बसपा की तरफ से इस बिल का विरोध कर रहे विधायक मुख्तार अंसारी ने कहा है कि यूपीकोका काला कानून लाया जा रहा है। इस कानून का बसपा पार्टी ने विरोध किया है। मैं भी इसका विरोध करता हूं। क्योंकि ये कानून सिर्फ अपने राजनीतिक विरोधियों को परेशान करने के उद्देश्य से लाया गया है।

विधानसभा में मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने कहा कि इस बिल को मकोका के अलावा कर्नाटक,  गुजरात में लागू ऐसे कानूनों का अध्ययन कर तैयार किया गया है। इस बिल के आ जाने से अपराधियों को जल्दी जमानत मिलने पर सबसे पहले लगाम लगेगा। यूपीकोका कमिश्नर और आईजी के अनुमति पर लगाया जाएगा। इसके लिए विशेष अदालत भी बनाया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

GALIYARA