योगी सरकार 4 लाख सरकारी कर्मचारियों की करेगी स्क्रीनिंग

योगी सरकार

योगी सरकार 4 लाख सरकारी कर्मचारियों की करेगी स्क्रीनिंग.सरकार मशीनरी को दुरूस्त करने के योगी सरकार के चार लाख कर्मचारियों और अधिकारियों की स्क्रीनिंग कराएगी। स्क्रीनिंग के बाद जो कर्मचारी और अधिकारी अयोग्य पाये जाएंगे उन्हें सरकार सरकारी सेवा से बाहर का रास्ता दिखाएगी। अभी तक योगी सरकार ने कभी विभाग में सैकड़ों अधिकारियों और कर्मचारियों को जबरन वीआरएस दिया है।

जानकारी के मुताबिक यूपी सरकार आज 4 लाख कर्मचारियों और अधिकारियों की स्क्रीनिंग पर अंतिम मोहर लगाएगी। आज सभी विभागों के प्रमुख सचिव और विभागों के प्रमुखों से उनके विभागों के दागी कर्मचारी और अफसरों की सूची तलब की है। अभी तक प्रदेश के दर्जन भर प्रमुख विभागों ने दागियों की सूची नहीं दी है। लोक निर्माण,परिवहन, पंचायती राज और पुलिस के अलावा 60 विभागों की पूरी सूची अभी तक नहीं मिली है। जबकि मुख्यमंत्री योगी ने विभागों से इस बारे में तेजी से काम करने का आदेश दिया था। लिहाजा मुख्य सचिव राजीव कुमार को आज तक सभी 5 दर्जन से अधिक विभागों को सूची मुख्यमंत्री योगी को देनी है।

राज्य में योगी सरकार बनने के बाद विभागों में सालों से जमे दागी कर्मचारी और अधिकारियों को बाहार का रास्ता दिखाने का आदेश दिया था। इसके साथ ही योगी सरकार ने उन खिलाफ भी कार्यवाही करने का आदेश दिया था। जिनके खिलाफ गबन या विजिलेंस के मामले चल रहे थे। लिहाजा सरकार बनने के बाद विभागों में सूची तैयार होनी शुरू गयी थी। लेकिन कुछ लोगों ने अपने संपर्कों के जरिए अपने नामों को सूची से गायब करा दिया था। हालात ये हैं कि मुख्य सचिव के निर्देश के बाद भी एक माह में कई नोटिस के बाद भी कई विभागों ने दागियों की लिस्ट नहीं दी है। लेकिन जिन विभागों की सूची नहीं आएगी उन पर भी कार्रवाई होना तय माना जा रहा हैं। योगी सरकार के प्रवक्ता और मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने साफ कहा है कि जिन दागियों को पूर्व की सरकारों ने बचाया अब उनके खिलाफ कार्यवाही तय है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

GALIYARA