शिमला-सूचना आयोग खाली, कैसे होगी जनता की समस्याएं दूर

सूचना आयुक्त

सूचना आयोग खाली। राज्य सूचना आयोग में आयुक्त के पद खाली हैं। लिहाजा जनता सूचना के अधिकार से वंचित होंगे। राज्य में राज्य सूचना आयुक्त केडी बातिश रिया का कार्यकाल खत्म होने के बाद राज्य सूचना आयोग खाली हो गया है। फिलहाल नई नियुक्ति होने तक आयोग में किसी प्रकार का कामकाज नहीं होगा। आयोग में 500 से अधिक अपीलें लंबित हैं। सूचना प्राप्त करने केलिए लोगों को लंबा इंतजार करना पड़ेगा।

यह भी पढ़े:-उत्तराखंड सरकार आज पेश करेगी बजट

सरकार डेढ़ साल से इस पद पर किसी पात्र व्यक्ति की नियुक्ति नहीं कर पाई है। पिछली दो बैठकों में नेता प्रतिपक्ष प्रेम कुमार धूमल नहीं पहुंचे जिस कारण बैठक टाली गई। नेता प्रतिपक्ष ने सरकार से संवैधानिक प्रावधानों को लेकर जवाब मांगा है। प्रदेश सरकार ने अभी तक धूमल को जवाब नहीं भेजा है। तीन सदस्यीय कमेटी में प्रत्येक सदस्य का शामिल होना और सहमति जरूरी है। मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह, विद्या स्टोक्स व प्रेम कुमार धूमल कमेटी के सदस्य हैं। केडी बातिश ने 240 मामलों का निपटारा किया।

उन्होंने पुराने मामलों का निपटारा करने के साथ 25 ऐसे नए मामले भी निपटाए जो बहुत जरूरी थे। मुख्य सूचना आयुक्त भीमसेन का कार्यकाल 23 फरवरी 2016 को समाप्त हुआ था। सीआइसी पद के लिए सरकार के प्रशासनिक सुधार विभाग के पास 190 लोगों ने आवेदन किया है।

आवेदन करने वालों में अतिरिक्त मुख्य सचिव नरेंद्र चौहान, राज्य सूचना आयुक्त पद पर कार्यकाल पूरा करने वाले केडी बातिश, केएस तोमर, लोक सेवा आयोग के सदस्य मोहन चौहान, भारतीय सेना की पश्चिम कमान के पूर्व लेफ्टिनेंट जनरल संजीव मधोक, पीसीसीएफ वाइल्ड लाइफ एसएस नेगी, सेवानिवृत्त आइएएस अधिकारी अशोक ठाकुर, पीसी कपूर, एडीजीपी बीएनएस नेगी, पूर्व अतिरिक्त प्रधान मुख्य अरण्यपाल डॉ. ललित मोहन, अमेरिका से डॉ. सुब्रत कुमार आदि शामिल हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

GALIYARA