-भोपाल-17 में से सिर्फ चार अफसर बन पाएंगे सचिव

केंद्र सरकार में सचिव बनने के लिए आईएएस अफसरों की केवल एसीआर (एन्युअल कॉन्फिडेंशियल रिपोर्ट) ही आधार नहीं बनेगी। जिन अफसरों को मंत्रालयों की कमान सौंपी जाएगी, उन्हें नए फार्मूले में फिट होना पड़ेगा। केंद्र सरकार ने पिछले कई वर्षों से चली आ रही प्रक्रिया में बदलाव कर दिया है। इसके तहत सचिव पद के लिए मप्र कैडर के 1984 और 1985 बैच के सिर्फ चार अफसरों का इम्पैनल हो पाया है। जबकि इन दोनों बैच के 17 अफसर दौड़ में शामिल थे। 1984 बैच के आलोक श्रीवास्तव के अलावा 1985 बैच के दीपक खांडेकर, इकबाल सिंह बैंस व आरएस जुलानिया नए मापदंडों में खरे उतरे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

GALIYARA