Bureaucracy:टोक्यो में भारत को झंडा बुलंद करेंगे यूपी के आईएएस सुहास एलवाई

Bureaucracy:जानकारी के मुताबिक सुहास एलवाई को बचपन से ही खेलों का शौक था, लेकिन आईएएस में चयन से पहले वे क्रिकेट के खिलाड़ी थे। आईएएस में चयनित होने के बाद बैडमिंटन से उनका जुड़ाव आगे बढ़ गया।

Bureaucracy:टोक्यो में भारत को झंडा बुलंद करेंगे यूपी के आईएएस सुहास एलवाई

Bureaucracy:उत्तर प्रदेश के गौतमबुद्ध नगर (यूपी) के जिलाधिकारी सुहास एलवाई जापान के टोक्यो में आयोजित होने वाले पैरालंपिक में हिस्सा लेंगे। वह बैडमिंटन की एकल प्रतियोगिता में अपना दमखम दिखाएंगे। बैडमिंटन वर्ल्ड फेडरेशन ने सुहास एलवाई के पैरालंपिक में चयन की पुष्टि की है। सुहास एलवाई ने बताया कि यह उनके लिए गर्व की बात है कि वह देश के लिए पहली बार पैरालंपिक में हिस्सा लेंगे और वह अपना सर्वश्रेष्ठ देने की पूरी कोशिश करेंगे। उनका मकसद प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक जीतना है। मेहनत करना कोई मजबूरी नहीं, बल्कि आदत है। यही कारण है कि चाहे पढ़ाई हो या खेल, जहां उन्होंने हाथ आजमाया, सफलता ने चूमा। 

सुहास थे क्रिकेट के खिलाड़ी

जानकारी के मुताबिक सुहास एलवाई को बचपन से ही खेलों का शौक था, लेकिन आईएएस में चयन से पहले वे क्रिकेट के खिलाड़ी थे। आईएएस में चयनित होने के बाद बैडमिंटन से उनका जुड़ाव आगे बढ़ गया। इस कारण उन्होंने आईएएस  एकेडमी से बैडमिंटन खेलना शुरू किया। आईएएस की ट्रेनिंग आजमगढ़ से की। चूंकि आजमगढ़ में बैडमिंटन के कई राज्य स्तरीय खिलाड़ी हैं, इसलिए उन्हें न केवल अपनी कंपनी में बैडमिंटन के खेल में दिलचस्पी मिली, बल्कि इसे गंभीरता के साथ खेलना भी शुरू कर दिया। आज उनकी विश्व रैंकिंग तीन है। 

कोरोना प्रभावित जिले की मिली जिम्मेदारी

वहीं आईएएस सुहास एलवाई को पिछले साल कोरोना संक्रमण से पीड़ित नोएडा को बचाने के लिए जिले की जिम्मेदारी दी गई थी। अपने मजबूत प्रोफाइल और सटीक काम के लिए जाने जाने वाले सुहास LY दिव्यांग हैं। सुहास एलवाई इससे पहले आजमगढ़, जौनपुर और प्रयागराज जैसे जिलों को संभाल चुके हैं। सुहास 2019 में प्रयागराज कुंभ के दौरान एलवाई जिले के डीएम थे। इस दौरान क्राउड मैनेजमेंट से लेकर शहर की साफ-सफाई और सजावट तक में उन्होंने हर काम को बेहतरीन तरीके से अंजाम दिया। 

ALSO READ;-Bureaucracy: भुवनेश कुमार समेत 20 आईएएस अफसर केन्द्र में बने ज्वाइंट सेक्रेटरी

कर्नाटक के रहने वाले हैं सुहास एलवाई

यूपी कैडर के आईएएस अफसर सुहास एलवाई कर्नाटक के शिमोगा जिले के मूल निवासी हैं। 2007 में आईएएस अधिकारी बनने वाले सुहास एलवाई को यूपी कैडर मिला है और राज्य में वह कई जिलों की कमान संभाल चुके हैं और वह अपने बेहतर कार्य के लिए नौकरशाही के बीच में मशहूर हैं। राज्य सरकार सुहास को यश भारती पुरस्कार से भी नवाज चुकी है।