DM Shailesh Yadav: क्या डीएम साहब भांग पीकर गए थे शादी रोकने? सीएम का डंडा चला तो मांगने लगे माफी

DM Shailesh Yadav: मंगलवार को सोशल मीडिया पर वायरल हुए एक वीडियो में त्रिपुरा के पश्चिम त्रिपुरा जिले के डीएम शैलेश कुमार यादव (Shailesh Kumar Yadav) एक शादी को रोक रहे हैं और वह लोगों के साथ बदतमीजी से बात कर रहे हैं।

DM Shailesh Yadav: क्या डीएम साहब भांग पीकर गए थे शादी रोकने? सीएम का डंडा चला तो मांगने लगे माफी
IAS Shailesh Yadav

DM Shailesh Yadav: मंगलवार को एक शादी के समारोह को रोकने वाले पश्चिम त्रिपुरा जिले के डीएम शैलेश कुमार यादव (Shailesh Kumar Yadav, DM of West Tripura district) ने माफी मांगी है। डीएम का कहना है कि उनका मकसद किसी की भावनाओं को आहत करना नहीं था। फिलहाल इस मामले में उनके खिलाफ जांच शुरू हो गई है। अब डीएम शैलेश यादव (DM Shailesh Yadav) अपने किए पर माफी मांग रहे हैं। अब सवाल ये उठता है कि क्या डीएम साहब वहां पर भांग पीकर गए थे, जो अब माफी मांग रहे हैं।

दरअसल सोशल मीडिया पर वायरल हुए एक वीडियो में डीएम शैलेश कुमार यादव (DM Shailesh Yadav) माणिक्य कोर्ट में एक शादी समारोह (wedding ceremony) को रोक रहे हैं। वायरल वीडियो में डीएम शैलेश काफी गुस्से में दिखे। मैरिज हॉल पर छापा मारते हुए डीएम ने कोविद के दिशा-निर्देशों का पालन नहीं करने पर शादी में शामिल लोगों को बाहर निकाल दिया और बदतमीजी से बात की।

यहां तक की डीएम साहब के तेवर देखकर जिले के एसपी भी सहम गए थे और उनके आदेश का पालन कर रहे थे। जबकि शादी वाला परिवार उन्हें कागज दिखा रहा था और जिसे डीएम शैलेश यादव (DM Shailesh Yadav) ने फाड़कर फेंक दिया। यही नहीं डीएम ने दुल्हन को स्टेज से उतरने के लिए भी कहा।

इस वायरल वीडियो में गुस्से में दिख रहे डीएम की भाषा भी अभद्र लग रही थी। यादव ने कहा कि मैरिज हॉल में सभी लोग सीआरपीसी की धारा 144 (section 144 of the CrPC) के तहत कार्रवाई करने का आदेश दिया और 30 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया गया और बाद में रिहा कर दिया गया।

सीएम के सामने उठा मामला

इस मामले के सोशल मीडिया (social media) में आने के बाद राज्य के सीएम ने संज्ञान लिया और शैलेश यादव के खिलाफ कार्यवाही करने के आदेश जारी किए। लेकिन इसके बाद अब आईएएस और डीएम शैलेश यादव (DM Shailesh Yadav) अपने किए पर माफी मांग रहे हैं। वहीं  विपक्षी नेताओं माणिक सरकार और सीपीआईएम ने इस घटना को 'अवांछनीय' करार दिया और डीएम पर हमला बोला और डीएम के खिलाफ उचित कार्रवाई की मांग की।

ALSO READ:-Delhi on corona volcano: अस्पताल से लेकर श्मशान घाट तक जगह नहीं, लेकिन शराब की दुकानों में उमड़ी भीड़

सोशल मीडिया (social media) में हुई जमकर आलोचना

वहीं शैलेश यादव (DM Shailesh Yadav) के इस कार्यवाही पर सभी ने सवाल उठाए और सोशल मीडिया (social media) में उनकी जमकर आलोचना हुई। कई आईएएस अफसरों ने डीएम की इस कार्यवाही को गलत बताया और उनके तरीके को भी। जिसके बाद वह सोशल मीडिया (social media) के निशाने पर आ गए।