Gandhi Family Magic Failed in Assam: असम में कांग्रेस बड़ी हार की तरफ, नहीं चला राहुल और प्रियंका का जादू

Gandhi Family Magic Failed in Assam: असम विधानसभा चुनाव (Assam Assembly elections result-2021) में कुल 126 सीटों के लिए चुनाव हुए हैं। आज 125 सीटों के रुझानों के बीच, भाजपा गठबंधन 82 सीटों पर आगे चल रही है, जबकि कांग्रेस गठबंधन को 43 सीटों पर आगे चल रही है।

Gandhi Family Magic Failed in Assam: असम में कांग्रेस बड़ी हार की तरफ, नहीं चला राहुल और प्रियंका का जादू

Gandhi Family Magic Failed in Assam: असम विधानसभा चुनाव के वर्तमान परिणामों (Assam Assembly elections result-2021) में भाजपा एक बार फिर एकतरफा जीत दर्ज करते हुए दिख रही है। राज्य में भाजपा गठबंधन (BJP alliance) पूर्ण बहुमत के साथ सत्ता में लौट रही है, जबकि कांग्रेस गठबंधन एक बार फिर अपने पुराने आंकड़े से नीचे आते दिख रहा है। वहीं अगर कांग्रेस की राज्य में हार होती है तो ये राहुल गांधी और प्रियंका गांधी (Rahul Gandhi and Priyanka Gandh) की हार होगी। क्योंकि असम में चुनाव की कमान गांधी परिवार ने अपने हाथ में ले रखी थी

असम विधानसभा चुनाव में कुल 126 सीटों के लिए चुनाव हुए हैं। आज 125 सीटों के रुझानों के बीच, भाजपा गठबंधन 82 सीटों पर आगे चल रही है, जबकि कांग्रेस गठबंधन को 43 सीटों पर आगे चल रही है। वहीं, 2 सीटें अन्य के खाते में जा सकती हैं। ऐसे में बीजेपी पिछले चुनाव की तरह परिणाम दोहराती नजर आ रही है। वहीं, AIUDF, BPF और लेफ्ट पार्टी के साथ कांग्रेस-एआईयूडीएफ गठबंधन (Congress-AIUDF alliance) ने इस बार काम नहीं किया।

प्रियंका और राहुल गांधी ने संभाली थी चुनाव की कमान

असम विधानसभा चुनाव में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी और राहुल गांधी (Rahul Gandhi and Priyanka Gandh) ने कांग्रेस की बागडोर संभाली थी, वहीं इस चुनाव में गांधी परिवार के करीबी छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल (Chhattisgarh CM Bhupesh Baghel) को अपना सेनापति बनाया था। वहीं बघेल ने असम में डेरा डाला था और अपने राज्य कई मंत्रियों को चुनावों में लगाया था। इसके बावजूद बघेल की चाल काम नहीं कर सकी, जबकि प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) का चेहरा पार्टी के लिए काम नहीं कर सका। हालांकि, प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने यहां पूरी ताकत झोंक दी थी, फिर भी पार्टी जीत नहीं सकी।

क्या थे विधानसभा चुनाव 2016 (assembly election 2016)  के नतीजे

आपको बता दें कि 2016 के पिछले विधानसभा चुनाव (assembly election 2016) के नतीजे (Assam Assembly elections result-2021) इसी तरह के थे। बीजेपी को 60 सीटें मिलीं और उसके सहयोगी असम गण परिषद को 14 और बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट को 12 सीटें मिलीं। वहीं, कांग्रेस ने 26 सीटें, ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट ने 13 और निर्दलीय ने एक सीट जीती। हालांकि, इस बार बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट भाजपा के बजाय कांग्रेस के साथ मैदान में आया। वहीं माना जा रहा है कि भाजपा असम के ऊपरी क्षेत्रों, मध्य क्षेत्र और उत्तर क्षेत्र में अपनी राजनीतिक पकड़ बनाए रखने में सफल रही। जबकि कांग्रेस-एआईयूडीएफ गठबंधन (Congress-AIUDF alliance) को बराक घाटी और निचले असम के मुस्लिम आबादी वाले क्षेत्रों में आगे दिख रही है। 

ALSO READ:-Hindu card in Assembly Election 2021: दीदी ने बताया गोत्र तो राहुल मां की चौखट पर

नहीं चले कांग्रेस के मुद्दे

कांग्रेस उम्मीद कर रही थी कि सीएए के खिलाफ आंदोलन, चाय बागान श्रमिकों की नाराजगी, बेरोजगारी, मुद्रास्फीति के मुद्दों के कारण असम में उसे राजनीतिक मदद मिलेगी। लेकिन अभी ऐसा नहीं दिख रहा है। एआईयूडीएफ और बीपीएफ जैसे महत्वपूर्ण दलों के एक साथ आने के कारण, कांग्रेस को सत्ता में वापसी की उम्मीद थी, लेकिन परिणाम ने कांग्रेस की सभी उम्मीदों को धो दिया है।