Health Tips: आम नहीं है कोई 'आम' फल, यूं ही नहीं है फलों का राजा जनाब

Health Tips: आम विटामिन सी से भी भरपूर होते हैं, जो रक्त वाहिकाओं और स्वस्थ कोलेजन के विकास के लिए बेहद महत्वपूर्ण माना जाता है। विटामिन सी शरीर को घावों को तेजी से ठीक करने में मदद करता है।

Health Tips: आम नहीं है कोई 'आम' फल, यूं ही नहीं है फलों का राजा जनाब

Health Tips: आम (Mango) भारत में उगने वाला एक बहुत ही स्वादिष्ट फल (delicious fruit) है जिसे गर्मी के मौसम में खाया जाता है। इस फल का इतिहास करीब 5000 साल पुराना है। हालांकि, आम का स्वाद (mango flavor) अब सात समंदर पार विदेशियों द्वारा भी उठाया जा रहा है । दशेहरी लंगड़ा, चौसा, केसर, बादामी, तोतापरी और अल्फांसो जैसी आम प्रजातियां भारत में काफी प्रसिद्ध (very famous in india) हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि आम स्वादिष्ट होने के साथ-साथ पौष्टिक (nutritious as well as delicious) भी होता है। आइए जानते हैं कि आम में कौन से लाभकारी तत्व पाए जाते हैं और इससे हमारे शरीर को क्या लाभ होता है।

आम नहीं है आम, इसमें छिपा है सेहत का खजाना

आम में कई प्रकार के विटामिन, मिनरल्स और एंटी ऑक्सीडेंट (Various types of vitamins, minerals and anti-oxidants) पाए जाते हैं जो अलग-अलग रंगों में आते हैं। इसमें मौजूद विटामिन के न सिर्फ खून के थक्के में फायदेमंद होता है, बल्कि एनीमिया से भी बचाता है। बहुत कम लोग जानते होंगे कि आम हमारी हड्डियों को मजबूत करने का भी काम करता है।आम विटामिन सी (vitamin C) से भी भरपूर होते हैं, जो रक्त वाहिकाओं और स्वस्थ कोलेजन के विकास के लिए बेहद महत्वपूर्ण माना जाता है। विटामिन सी शरीर को घावों को तेजी से ठीक करने में मदद करता है। इसके अलावा आम हमारे शरीर को कई बड़ी बीमारियों से बचा सकता है।

कैंसर को खतरे को करे दूर

विशेषज्ञों का कहना है कि आम के पीले और नारंगी हिस्सों में बीटा कैरोटीन (beta carotene) पाया जाता है। बीटा कैरोटीन आमों में पाए जाने वाले कई एंटी ऑक्सीडेंट्स में से एक है। मैंगो फाइट में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स शरीर में फ्री रेडिकल्स से लड़ते हैं, जो कैंसर के बढऩे के लिए जिम्मेदार माने जाते हैं।

दिल का भी रखे ख्याल

डॉक्टर्स के मुताबिक, आम हमारे शरीर के कार्डियोवैस्कुलर सिस्टम (cardiovascular system) को भी सपोर्ट करता है। इसमें मौजूद मैग्नीशियम और पोटेशियम की प्रचुर मात्रा शरीर में मौजूद निम्न रक्तचाप को नियमित नाड़ी से जोडक़र भी देखा जाता है। इसके अलावा आम में मैंगिफरिन नामक यौगिक भी होता है। कई शुरुआती अध्ययनों से पता चला है कि मैंगिफरिन दिल की सूजन को दूर करने का भी काम करता है।

 हाजमा करे दुरूस्त

 आम हमारे पाचन तंत्र को भी ठीक रखता है। इसमें मौजूद एमिलेज कंपाउंड और डाइटरी फाइबर (Amylase Compound and Dietary Fiber) भी कब्ज को दूर करने का काम करते हैं। एमीलेस यौगिक हमारे पेट को विभिन्न प्रकार के खाद्य पदार्थों को पचाने में मदद करते हैं और कठोर स्टार्च को भी तोड़ सकते हैं। 

 आंखों के लिए है लाभकारी

 आम विटामिन ए से भी भरपूर है। लगभग एक आम विटामिन ए (Vitamin A) की दैनिक आवश्यकता का लगभग 25 प्रतिशत पूरा कर सकता है। यह विटामिन हमारे शरीर के कई प्रमुख अंगों जैसे आंखों और त्वचा के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। प्रजनन और शरीर में प्रतिरक्षा प्रणाली के लिए विटामिन ए भी आवश्यक है।

वजन को रखे काबू में

आम में मौजूद लाभकारी तत्व तेजी से बढ़ते वजन को नियंत्रित (weight control) करने में भी लाभ पहुंचा सकते हैं। हाल ही में हुए एक अध्ययन के अनुसार आम और इसमें मौजूद फाइटोकेमिकल्स शरीर में फैट सेल्स और फैट से जुड़े जीन पर दबाव डाल सकते हैं। एक अन्य अध्ययन के मुताबिक, आम के छिलके से शरीर में फैटी टिश्यू की ग्रोथ को भी रोका जा सकता है। यह बिल्कुल शरीर में आम में मौजूद एंटी ऑक्सीडेंट्स की तरह काम करता है।

ALSO READ: Benefits Of Eggs: संडे हो या मंडे रोज खाओ नाश्ते में अंडे, क्या आप जानते हैं सेहत के लिए कितना फायदेमंद है अंडा

लेकिन इन बातों का रखें ख्याल

वैसे आम खाना शरीर के लिए फायदेमंद होता है। लेकिन इसे बहुत ज्यादा खाने से भी नुकसान (harm from eating too much) हो सकता है। कुछ लोगों को यह गलतफहमी होती है कि इसे खाने से वजन बढ़ सकता है। विशेषज्ञों का कहना है कि इसे सही मात्रा में खाने से ऐसा नहीं होता है। आम के 100 ग्राम में 60 कैलोरी होती है। अगर कोई व्यक्ति रोजाना अलग-अलग समय पर 1-2 आम खा रहा है और कैलोरी की निगरानी भी कर रहा है तो उसका वजन नहीं बढ़ेगा।