ममता के ही चीफ सेक्रेटरी ने खोली दीदी की पोल, पैर में चोट की रिपोर्ट चुनाव आयोग को भेजी

फिलहाल नंदीग्राम में सीएम ममता बनर्जी को चोट लगने का मामला चुनाव आयोग तक पहुंच गया है। आयोग ने पिछले दिन ही नंदीग्राम की घटना के बारे में 48 घंटे के भीतर पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव से रिपोर्ट मांगी थी।

ममता के ही चीफ सेक्रेटरी ने खोली दीदी की पोल, पैर में चोट की रिपोर्ट चुनाव आयोग को भेजी


कोलकाता। पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी के पैर में लगी कथित चोट को लेकर राज्य के चीफ सेक्रेटरी ने ही पोल खोल दी है। इस रिपोर्ट में कहा गया है कि ममता बनर्जी की पैर में चोट कार के दरवाजे की वजह से लगी थी। रिपोर्ट में सड़क पर भारी भीड़ जमा होने का भी उल्लेख किया गया है। हालांकि, रिपोर्ट में यह स्पष्ट रूप से उल्लेख नहीं किया गया है कि कार का दरवाजा बंद होने के कारण ममता का बायां पैर उसमें फंस गया था। फिलहाल ममता को लगी चोट को लेकर टीएमसी इसे राज्यव्यापी मुद्दा बना रही है और इस चोट को वोट बदलने की तैयारी में है।

फिलहाल नंदीग्राम में सीएम ममता बनर्जी को चोट लगने का मामला चुनाव आयोग तक पहुंच गया है। आयोग ने पिछले दिन ही नंदीग्राम की घटना के बारे में 48 घंटे के भीतर पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव से रिपोर्ट मांगी थी। जिस पर आज बंगाल के मुख्य सचिव ने चुनाव आयोग को रिपोर्ट भेज दी। इस रिपोर्ट में चीफ सेक्रेटरी ने ममता के दांवों की पोल खोल दी है, जिसमें उन्होंने कहा कि उन्हें धक्का दिया गया था।

जिसके कारण उन्हें चोट लगी है। वहीं चीफ सेक्रेटरी की रिपोर्ट में साफ है कि ममता बनर्जी को किसी ने धक्का नहीं दिया। चीफ सेक्रेटरी की रिपोर्ट में कहा गया है कि ममता बनर्जी की टांग की चोट कार के दरवाजे की वजह से लगी थी।रिपोर्ट में सड़क पर भारी भीड़ जमा होने का भी उल्लेख किया गया है। रिपोर्ट में कार के पास लोहे के खंभे का उल्लेख है फिलहाल चुनाव आयोग के अधिकारी इस रिपोर्ट पर चर्चा कर रहे हैं।

यह खबर भी पढ़ें- ये रिश्ता क्या कहलाता है: झारखंड में साथ और पश्चिम बंगाल में कांग्रेस के खिलाफ दीदी का साथ देंगे सोरेन

गौरतलब है कि नंदीग्राम की घटना को लेकर शुक्रवार को टीएमसी और फिर बीजेपी के प्रतिनिधिमंडल ने चुनाव आयोग से मुलाकात की और टीएमसी ने कहा कि ममता बनर्जी के जीवन को खतरा बताया हैं वहीं बीजेपी से 10 मार्च को हुई घटना का वीडियो सार्वजनिक करने की मांग की।

बीजेपी ने रखी विशेष पर्यवेक्षक की मांग

बीजेपी प्रतिनिधिमंडल में शामिल भूपेंद्र यादव ने चुनाव आयोग ने कहा कि नंदीग्राम एक संवेदनशील विधानसभा है। इसके लिए, एक विशेष पर्यवेक्षक होना चाहिए। उन्होंने कहा कि सीएम ममता राज्य की गृह मंत्री भी हैं। गौरतलब है कि 10 मार्च को ममता बनर्जी ने नंदीग्राम सीट से नामांकन दाखिल किया था। इसके बाद, वह शाम 6 बजे मंदिर गई। कथित तौर पर उस पर हमला किया गया जब वह मंदिर से निकलने के बाद कार में बैठी थी।