Mansukh Hiren Murder Mystery: जानें कौन हैं बिहार के आईपीएस लांडे, जिन्होंने मनसुख मर्डर को है सुलझाया

बिहार कैडर के 2006 बैच के आईपीएस अधिकारी शिवदीप वामन राव लांडे (Shivdeep Vaman Rao Lande) के बारे में कहा जा रहा है कि उन्होंने महाराष्ट्र के हाई प्रोफाइल मनसुख हिरेन हत्याकांड के रहस्य को सुलझाया है।

Mansukh Hiren Murder Mystery: जानें कौन हैं बिहार के आईपीएस लांडे, जिन्होंने मनसुख मर्डर को है सुलझाया

नई दिल्ली। आप ये सोच रहे हैं बिहार कैडर के 2006 बैच के आईपीएस अफसर शिवदीप वामन राव लांडे (Shivdeep Vaman Rao Lande) ने कैसे महाराष्ट्र के सबसे हाई प्रोफाइल मनसुख हिरेन हत्याकांड को सुलझाया है। क्योंकि वह बिहार कैडर के अफसर हैं। आपको बता दें, लांडे आजकल महाराष्ट्र में प्रतिनियुक्ति में हैं और महाराष्ट्र एटीएस में डीआईजी के पद पर हैं। 

लांडे एक बार फिर अपने गृह राज्य महाराष्ट्र से लेकर में बिहार में चर्चा में आ गए हैं। लांडे वर्तमान में महाराष्ट्र एटीएस (डीआईजी) के डीआईजी के रूप में कार्यरत हैं। लांडे कुछ साल पहले बिहार से महाराष्ट्र में प्रतिनियुक्ति पर गए थे। शिवदीप लांडे ने रविवार को सोशल साइट्स पर एक पोस्ट किया, जिसमें दावा किया गया कि हिरेन हत्या मामले का रहस्य सुलझ गया है। 

असल देश के सबसे बड़े कारोबारी मुकेश अंबानी के घर के बाहर मुंबई के एक पॉश इलाके में विस्फोटक मिलने के बाद एक शव नदी किनारे मिला था। यह वाहन मनसुख हिरेन का था। जिसके बारे में कहा जा रहा है कि ये केस सुलझा लिया गया है।

कौन हैं लांडे

लांडे महाराष्ट्र के विदर्भ क्षेत्र के अकोला जिले के निवासी हैं। जब वह और नारकोटिक्स विभाग में एसपी के पद पर तैनात थे और इस दौरान उन्होंने ड्रग डीलरों के खिलाफ अभियान चलाकर कई सफल ऑपरेशन किए थे। इस दौरान, करोड़ों की ड्रग्स को बरामद किया गया। 

पटना में सिटी एसपी के दौरान आए थे चर्चा में 

पटना का सिटी एसपी रहने के दौरान लांडे अपराधियों और अवैध कारोबार से जुड़े लोगों के लिए भय का पर्याय बन गए थे और लांडे ने 2010 में मुंगेर के नक्सल प्रभावित जिले में परिवीक्षाधीन अधिकारी के रूप में अपना करियर शुरू किया। वह मुंगेर में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक थे। इसके बाद, उन्होंने राजधानी क्षेत्र में पटना के सिटी एसपी के रूप में काम किया।

लांडे के ट्रांसफर के खिलाफ पटना में लोगों ने निकाला था मार्च

असल में नवंबर 2011 में जब शिवदीप लांडे को अररिया के पुलिस अधीक्षक नियुक्त करने के बाद राजधानी पटना से हटा दिया गया, तो पटना में लोगों ने स्थानांतरण के खिलाफ विरोध किया। युवाओं और छात्रों ने राज्य सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया। युवाओं के बीच खासतौर पर लोकप्रिय रहे लांडे के प्रशंसकों ने सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक पर उनके नाम से एक खाता खोला है।


मनसुख हिरेन मामले में हुई गिरफ्तारी

मनसुख हिरेन की मौत के मामले में एटीएस ने महाराष्ट्र पुलिस के सिपाही विनायक शिंदे और नरेश धारे सहित एक बुकी को गिरफ्तार किया है। हिरेन की मौत के मामले के दो आरोपियों को भी रविवार को अदालत में पेश किया गया। अदालत ने दोनों को 30 मार्च तक एटीएस की हिरासत में भेज दिया है।