BJP's Mission 2022: तो इस फार्मूले से कार्यकर्ताओं को खुश करेगी भाजपा, चुनाव से पहले ताजपोशी की तैयारी

Mission 2022 UP BJP:यूपी में विधानसभा चुनाव नजदीक आते ही सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने अपनी चुनावी तैयारी शुरू कर दी है। लिहाजा पार्टी ने अपने नाराज कार्यकर्ताओं को खुश करने का प्लान बनाया है।

BJP's Mission 2022: तो इस फार्मूले से कार्यकर्ताओं को खुश करेगी भाजपा, चुनाव से पहले ताजपोशी की तैयारी

Mission 2022 UP BJP: यूपी में विधानसभा चुनाव (Assembly elections in UP) नजदीक आते ही सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने अपनी चुनावी तैयारी (election preparation) शुरू कर दी है। चुनावी तैयारियों में जुटी पार्टी ने गठबंधन की गांठें तय करने के साथ ही कार्यकर्ताओं को संतुष्ट (satisfy workers) करने की तैयारी कर ली है। कार्यकर्ताओं को खुश करने के लिए पार्टी ने उन्हें सरकार से लेकर संगठन तक संतुष्ट करने की योजना बनाई है।

भाजपा सूत्रों के अनुसार (According to BJP sources) राज्य अल्पसंख्यक आयोग, अनुसूचित जाति आयोग और अन्य आयोगों, निगमों, बोर्डों और समितियों में कार्यकर्ताओं की नियुक्ति (recruitment of workers) की जा सकती है। संगठन में भी मंडल स्तर तक के अग्रेषित मोर्चों, प्रकोष्ठों और परियोजनाओं में नियुक्तियां की जाएंगी। माना जा रहा है कि पहले चरण में जुलाई तक संगठन और सरकार में एक लाख से अधिक कार्यकर्ताओं को विभिन्न पदों पर समायोजित किया जाएगा।

बताया जा रहा है कि बीते दिनों जब पार्टी के केंद्रीय संगठन मंत्री बीएल संतोष (Union Organization Minister BL Santosh) लखनऊ में मैराथन बैठकें कर रहे थे, तब संगठन के कुछ मंत्रियों और पदाधिकारियों (ministers and office bearers) ने यह मुद्दा उठाया था। इसके बाद सरकार और संगठन के प्रमुख लोगों के बीच कार्यकर्ताओं के समायोजन और नेताओं के दावे को लेकर मंथन शुरू हो गया है। चुनाव को देखते हुए इन पदों पर नियुक्तियों में जाति और क्षेत्रीय संतुलन का भी ध्यान रखा जाएगा।

ALSO READ: Third Wave of Corona: अनलॉक प्रक्रिया शुरू,मंडरा रहा है तीसरी लहर का खतरा लेकिन बचने के लिए करें ये उपाय

किस विभाग-प्रकोष्ठ में होगा समायोजन?

भाजपा (BJP) अपने कार्यकर्ताओं (workers) को मीडिया डिवीजन (media division), सुशासन और केंद्रीय राज्य समन्वय विभाग, योजना अनुसंधान विभाग (planning research department), मीडिया संबंध विभाग, राजनीतिक फीडबैक विभाग, राजनीतिक कार्यक्रम और बैठक विभाग में समायोजित करेगी । इन विभागों के अलावा, श्रमिकों को आपदा राहत और बचाव विभाग, साहित्य और प्रकाशन विभाग, चुनाव प्रबंधन विभाग (election management department), समन्वय विभाग, चुनाव आयोग के साथ समन्वय विभाग, सोशल मीडिया विभाग, आईटी विभाग, आजीवन सहयोग निधि विभाग, कानून और न्याय विभाग, जिला कार्यालय निर्माण और भाजपा को रखरखाव, पुस्तकालय में श्रमिकों को समायोजित करने की योजना पर काम हो रहा है ।

वहीं भाजपा कार्यकर्ताओं को पुस्तकालय वाचनालय, स्वच्छ भारत अभियान, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ, नमामि गंगे परियोजना, राष्ट्रीय सदस्यता अभियान, राष्ट्रीय महासंपर्क अभियान (national general contact campaign) में भी समायोजित किया जाएगा।