Panchayat Election Results: यूपी में दिग्गजों के परिवारों को पंचायत चुनाव में कहीं मिली जीत तो कहीं हार

Panchayat Election Results: यूपी के 75 जिलों में 3051 जिला पंचायत (Panchayat) सीटें हैं। मैनपुरी में बीजेपी में शामिल हुईं मुलायम सिंह की भतीजी संध्या यादव हार गई हैं। जौनपुर में, बाहुबली धनंजय सिंह की पत्नी ने जिला पंचायत सदस्य का चुनाव जीत लिया है।

Panchayat Election Results: यूपी में दिग्गजों के परिवारों को पंचायत चुनाव में कहीं मिली जीत तो कहीं हार

Panchayat Election Results: उत्तर प्रदेश में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव (UP Panchayat Election) की मतगणना जारी है। यह चुनाव सत्तारूढ़ भाजपा (BJP) के साथ-साथ विपक्षी समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) बसपा और कांग्रेस के लिए भी महत्वपूर्ण है। राज्य में अगले साल विधानसभा चुनाव हैं। ग्राम सरकार के लिए होने वाले इस चुनाव में पार्टियों की असली ताकत जिला पंचायत द्वारा तय की जाएगी। जिले में उसी पार्टी का नेतृत्व होगा, जिसके अधिक जिला पंचायत सदस्य होंगे। अब तक के रुझानों और परिणामों के अनुसार, भाजपा और समाजवादी पार्टी के बीच कड़ी प्रतिस्पर्धा है। रिजल्ट से जुड़ी हर अपडेट जानने के लिए बने रहें हमारे साथ ...

वाराणसी और गोरखपुर जिला पंचायत का हाल ( Varanasi and Gorakhpur District Panchayat)

पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में अभी तक जिला पंचायत का कोई भी परिणाम सामने नहीं आया है। रुझानों के अनुसार, 40 सीटों में से 20 पर भाजपा समर्थित उम्मीदवार आगे चल रहे हैं। वहीं, 7 सीटों पर कांटे की टक्कर है। सीएम योगी आदित्यनाथ के गृह जनपद गोरखपुर में 68 सीटें हैं।

वेस्ट यूपी के जिलों में रालोद को बढ़त (RLD leads in districts of West UP)

पश्चिमी यूपी के कई जिलों में चौधरी अजीत सिंह की पार्टी राष्ट्रीय लोकदल को बढ़त मिलती दिख रही है। बागपत और मथुरा में जिला पंचायत की सीटों पर, रालोद के उम्मीदवारों को आगे बताया जा रहा है। अजीत सिंह के गृहनगर बागपत में आरएलडी ज्यादातर सीटों पर आगे थी। अगर रुझान नतीजों में बदलते हैं तो बीजेपी को जाटलैंड में बड़ा झटका लग सकता है।

 बीजेपी और सपा के बीच कड़ा मुकाबला (A tough fight between BJP and SP)

75 जिलों में 3051 जिला पंचायत सीटें हैं। इन सीटों में से 753 में मिले रुझानों और परिणामों के अनुसार, भाजपा के उम्मीदवार 236 सीटों पर जीत गए हैं या आगे चल रहे हैं। मुख्य विपक्षी समाजवादी पार्टी 218 सीटों पर आगे है। इसके अलावा, बसपा 74 और कांग्रेस 53 सीटों पर आगे चल रही है। निर्दलीय और अन्य 172 सीटों पर आगे चल रहे हैं।

इटावा, बरेली और मैनपुरी में सपा आगे (SP ahead in Etawah, Bareilly and Mainpuri) 

अखिलेश यादव और शिवपाल यादव की जुगलबंदी इटावा जिला पंचायत में काम करती नजर आती है। यहां 24 में से 18 सीटों पर सपा और पीएसपीएल आगे चल रहे हैं। अखिलेश के भतीजे अभिषेक यादव ने इटावा जिला पंचायत की वार्ड नंबर -2 सीट जीती है। हाल ही में भाजपा में शामिल हुए मुलायम सिंह यादव की भतीजी संध्या यादव हार गई हैं। संध्या मैनपुरी जिला पंचायत के वार्ड नंबर 18 से चुनाव लड़ीं।

रामगोपाल यादव के करीबी सदर विधायक राज कुमार यादव राजू की पत्नी वंदना यादव जिला पंचायत का चुनाव हार गई हैं। वह मैनपुरी के वार्ड नंबर -28 से सपा के बागी उम्मीदवार से हार गई हैं। बरेली जिला पंचायत की 60 सीटों में से 23 पर सपा को बढ़त है। यहां भाजपा 17 सीटों पर आगे चल रही है। पीलीभीत जिला पंचायत सदस्य की 34 में से 23 सीटों का रुझान मिला है। यहां सपा 14 और भाजपा 9 सीटों पर आगे है। अयोध्या जिला पंचायत की 10 सीटों पर भाजपा के उम्मीदवार आगे चल रहे हैं।

पूर्व मंत्री रामवीर उपाध्याय की पत्नी आगे (Former minister Ramvir Upadhyay's wife ahead) 

हाथरस जिले के वॉर्ड नंबर-24 से पूर्व कैबिनेट मंत्री और बीएसपी विधायक रामवीर उपाध्याय की पत्नी सीमा उपाध्याय आगे हैं। उनके खिलाफ उन्हीं की देवरानी ऋतु उपाध्याय चुनाव मैदान में हैं। एटा सांसद और यूपी के पूर्व सीएम कल्याण सिंह के बेटे राजवीर सिंह समधन विजय सिंह वॉर्ड नंबर-47 में पीछे चल रहे थे।

ALSO READ:-Bihar Panchayat Election: खुशखबरी कभी भी हो सकता है चुनाव का ऐलान, बनेगी गांव की सरकार

 सपा के पक्ष में पहला परिणाम अमेठी (First result Amethi in favor of SP)

जौनपुर में बाहुबली धनंजय सिंह की पत्नी श्रीकला सिंह ने जिला पंचायत सदस्य का चुनाव जीता है। उन्होंने वार्ड नंबर -45 से 11 हजार से अधिक वोटों के अंतर से जीत दर्ज की है। वार्ड नंबर 44 से सपा के विकास यादव जीते हैं। अमेठी में जिला पंचायत का पहला परिणाम सपा के पक्ष में गया है। वार्ड नंबर 8 से सपा समर्थित सीलम सिंह 2000 वोटों से जीते हैं। उन्नाव में जिला पंचायत की 51 सीटों में से 27 सीटों पर रुझान आया है। बीजेपी यहां 15, सपा 10 और 2 सीटों पर निर्दलीय उम्मीदवार आगे हैं।