Pilot Will Get Status: क्या पंजाब में कैप्टन की तरह राजस्थान में भी सीएम गहलोत को साइडलाइन करेगा गांधी परिवार?

Pilot Will Get Status:पंजाब के बाद अब राजस्थान में कांग्रेस के भीतर विवाद खत्म होने को है। वहीं आज मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर आज कांग्रेस विधायक दल की बैठक हुई। बैठक के बाद राजस्थान एआईसीसी प्रभारी अजय माकन ने कहा कि मंत्रिमंडल विस्तार के फैसले को राज्य नेतृत्व स्वीकार करेगा।

Pilot Will Get Status: क्या पंजाब में कैप्टन की तरह राजस्थान में भी सीएम गहलोत को साइडलाइन करेगा गांधी परिवार?

Pilot Will Get Status: कांग्रेस आलाकमान खासतौर से गांधी परिवार एक बार फिर कांग्रेस संगठन में अपनी पकड़ मजबूत कर रहा है। पहले पंजाब में कांग्रेस आलाकमान ने तकरार को खत्म कराया और अब कांग्रेस आलाकमान की नजर राजस्थान पर है। जहां पर सीएम अशोक गहलोत और राज्य के पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट आमने सामने हैं। राजस्थान में सियासी हलचल तेज हो गई है। राजस्थान में मंत्रिमंडल विस्तार और फेरबदल की खबरों के बीच कहा जा रहा है कि पार्टी आलाकमान अंतिम फैसला लेगा। मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर आज कांग्रेस विधायक दल की बैठक हुई। बैठक से पहले पायलट गुट के नेताओं ने नारेबाजी की और सचिन पायलट को मुख्यमंत्री बनाए जाने की मांग की।

फिलहाल राजस्थान कांग्रेस में सरगर्मियां तेज हैं। वहीं राजस्थान के प्रभारी अजय माकन ने पार्टी की बैठक के बाद कहा कि मंत्रिमंडल विस्तार और राजनीतिक नियुक्तियों पर फैसला नेतृत्व स्वीकार करेगा। यानी साफ मतलब है कि राज्य में अब सीएम अशोक गहलोत को दरकिनार किया जा रहा है। कांग्रेस नेता अजय माकन ने कहा, हम जल्द ही अपने फैसले (राज्य मंत्रिमंडल विस्तार के संबंध में) घोषणा करेंगे।

यानी आने वाले समय में सचिन पायलट गुट को कैबिनेट में तवज्जो मिल सकती है। वहीं माकन ने कहा कि जिला और ब्लॉक स्तर की कांग्रेस टीमों की नियुक्ति को लेकर कांग्रेस विधायकों से सलाह-मशविरा करने के लिए मैं 28 जुलाई और 29 जुलाई को फिर से राजस्थान का दौरा करूंगा। राज्य के जिलों में भी सचिन पायलट गुट को प्रतिनिधित्व मिलेगा।

ALSO READ :- War of Honor vs Chair:निर्दलीय विधायकों ने पायलट पर साधा निशाना, लेकिन परदे के पीछे कौन?

 अगले सप्ताह हो सकता है गहलोत कैबिनेट का विस्तार

असल में माना जा रहा है कि कांग्रेस अगले हफ्ते राजस्थान में गहलोत मंत्रिमंडल का विस्तार कर सकती है और इसके साथ ही राजनीतिक नियुक्तियां भी की जाएंगी। असल में कांग्रेस आलाकमान सचिन पायलट और अशोक गहलोत के बीच चल रही तकरार और दोनों गुटों के बीच असंतोष को दूर करना चाहता है। बता दें कि राजस्थान में तेज राजनीतिक हलचल के बीच कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल और अजय माकन शनिवार को राजस्थान पहुंचे। वेणुगोपाल और माकन ने मंत्रिमंडल में फेरबदल और राजनीतिक नियुक्तियों के मुद्दों पर राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के साथ शनिवार देर रात चर्चा और कैबिनेट विस्तार पर भी बात की।