Polarisation of Muslim vote bank: कांग्रेस ने माना टीएमसी की तरफ शिफ्ट कराया गया वोट बैंक

Polarisation of Muslim vote bank: अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि कांग्रेस को मुख्य रूप से मुस्लिम वोट मिलते हैं और उसे टीएमसी में स्थानांतरित कर दिया गया। केवल इसी के कारण यह स्थिति बनी।

Polarisation of Muslim vote bank: कांग्रेस ने माना टीएमसी की तरफ शिफ्ट कराया गया वोट बैंक

Polarisation of Muslim vote bank:पश्चिम बंगाल के चुनाव (West Bengal elections) में भाजपा को अपेक्षित सफलता नहीं मिली है, लेकिन कांग्रेस (Congress) को सबसे बड़ा झटका लगा है। वहीं 2016 में 44 सीटें जीतने वाली कांग्रेस इस बार सिफर में आ गई है। वहीं कांग्रेस ने अब मान लिया है कि राज्य में कांग्रेस का वोट बैंक टीएमसी में शिफ्ट हुई है और वाम दलों ने अपने वोटबैंक भी टीएमसी की तरफ शिफ्ट कराया है। पार्टी के नेता अधीर रंजन चौधरी (Party leader Adhir Ranjan Chaudhary) ने कहा कि यह मुस्लिम वोट  (Muslim vote) टीएमसी के खाते में गया। इसके अलावा, वामपंथियों ने भी अपना वोट टीएमसी (TMC) को ट्रांसफर करवाया है। इसके कारण कांग्रेस इतनी पिछड़ गई। 

अधीर रंजन चौधरी ने कहा, 'टीएमसी सत्ता बचाना चाहती थी जबकि भाजपा सत्ता हासिल करना चाहती थी। हमारे लिए ऐसा कुछ भी दांव पर नहीं था। हम अपने अस्तित्व की लड़ाई लड़ रहे थे। भाजपा पर ध्रुवीकरण (BJP of polarization) का आरोप लगाते हुए अधीर रंजन ने कहा कि उन्होंने इसमें कोई कसर नहीं छोड़ी, लेकिन वह विफल साबित हुई। उन्होंने कहा कि मुर्शिदाबाद और मालदा जैसे क्षेत्रों में मुस्लिम वोट बैंक का ध्रुवीकरण (polarization) किया गया है।

चौधरी ने कहा कि सीतालाकुची में केंद्रीय बलों की गोलीबारी में 4 जवान मारे गए और सभी मुस्लिम थे। राज्य में तब से, ध्रुवीकरण (polarization) तेज हो गया। चौधरी ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि टीएमसी (TMC) ने इस स्थिति का फायदा उठाया और अपने वोटों का ध्रुवीकरण किया। कांग्रेस नेता ने कहा कि महिलाओं और मुस्लिमों ने ममता बनर्जी पर भरोसा किया है। जिसका खामियाजा उन्हें भुगतना पड़ा है।

ALSO READ:-Rebel will be strong in Congress: कांग्रेस में गांधी परिवार के खिलाफ 'खेला' करेगा बागी जी -23

वाम दलों ने टीएमसी की तरफ शिफ्ट कराया वोट बैंक

चौधरी ने कहा कि निश्चित रूप से वाम दलों का वोटों टीएमसी में ट्रांसफर हो गया है। यही नहीं, उन्होंने कहा कि कांग्रेस का वोट भी काफी हद तक टीएमसी को गया। अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि कांग्रेस को मुख्य रूप से मुस्लिम वोट मिलते हैं और उसे टीएमसी (TMC) में स्थानांतरित कर दिया गया। केवल इसी के कारण यह स्थिति बनी। चौधरी ने कहा कि मुस्लिम वोट टीएमसी (TMC)  के खाते में गया और हिंदू वोट भाजपा के खाते में गया। हमारे लिए कुछ नहीं बचा था। आपको बता दें कि लेफ्ट और इंडियन सेक्युलर फ्रंट के साथ गठबंधन में चुनाव लड़ने के बावजूद कांग्रेस को राज्य में एक भी सीट नहीं मिली है।