Political storm in Rajasthan: राजस्थान में कांग्रेस में बने दो गुट, नया कांग्रेसी और खांटी कांग्रेसी

Political storm in Rajasthan: बसपा से कांग्रेस में शामिल हुए नेताओं ने एक बार फिर गहलोत सरकार पर अपना विश्वास दिखाया (show your faith) है। इसके साथ ही अब पायलट समर्थकों (pilot supporters) पर उनकी ओर से कटु टिप्पणी (Scathing remarks) की जा रही है।

Political storm in Rajasthan: राजस्थान में कांग्रेस में बने दो गुट, नया कांग्रेसी और खांटी कांग्रेसी

Political storm in Rajasthan: पिछले कुछ दिनों से सीएम गहलोत (CM Gehlot) के दो महीने तक किसी से नहीं मिलने के बयान के बाद प्रदेश में मंत्रिमंडल विस्तार (cabinet expansion) का मुद्दा थमने लगा है। इसके साथ ही इस मुद्दे पर पायलट समर्थकों के साथ खड़े बसपा से कांग्रेस में शामिल हुए बसपा विधायकों (BSP MLAs) ने भी सुर बदल लिए हैं। बता दें कि गहलोत सरकार (Gehlot Sarkar) में बागियों के रूप में अपनी पहचान बनाने वाले इन विधायकों ने एक बार फिर सीएम गहलोत की तरफ से अपनी बात रखने पर सहमति जताई है।

मंगलवार को पायलट समर्थकों (pilot supporters) पर उनकी तरफ से जमकर हमला हुआ। इसके साथ ही इसी खेमे के विधायक राजेंद्र गुढ़ा ने तो यहां तक कह दिया था कि अगर बसपा के 6 और 10 निर्दलीय विधायक साथ नहीं होते तो कांग्रेस मुख्यमंत्री अशोक गहलोत सरकार की पहली पुण्यतिथि मनाने की तैयारी कर रही होती।

 पायलट कैम्प का घेराव

गौरतलब है कि बसपा से कांग्रेस में शामिल हुए नेताओं ने एक बार फिर गहलोत सरकार पर अपना विश्वास दिखाया (show your faith) है। इसके साथ ही अब पायलट समर्थकों (pilot supporters) पर उनकी ओर से कटु टिप्पणी (Scathing remarks) की जा रही है। साथ ही पायलट समर्थक भी उनके बयानों का जवाब देकर कांग्रेस का मनमुटाव बढ़ा रहे हैं, जानिए कौन क्या कह रहा है।

फर्क होना जरूरी

विधायक राजेंद्र गुढ़ा (MLA Rajendra Gudha) ने अपने बयान में कहा, निष्ठावान और गैर निष्ठावान में अंतर होना चाहिए, हमने सरकार बचाई है, हमारे पास स्वतंत्र हैं, कोई तुलना नहीं की जा सकती, जो लोग विद्रोही हैं, उन्हें पलकें बिछाकर घर वापस स्वागत करते हैं, यह ठीक नहीं है गहलोत, हमारे नेता। हम साथ थे और रहेंगे इसलिए हम बीएसपी से कांग्रेस में आए ताकि कांग्रेस मजबूत बनी रहे ।

मेरे क्षेत्र में काम हुआ: जोगिंदर अवाना

बसपा से कांग्रेस में शामिल हुए जोगिंदर अवाना (Joginder Awana) ने कहा कि गहलोत मेरे नेता हैं और ऐसे ही रहेंगे। हम बिना शर्त कांग्रेस में आए थे और किसी तरह का दबाव नहीं बना रहे हैं। आज असली और नकली की जरूरत है। हमारे क्षेत्र में मजबूत काम हुआ है, सभी को गहलोत पर विश्वास है, मंत्री बनने की मेरी कोई मांग नहीं है।

धोखेबाज मंत्रिमंडल विस्तार के लिए दबाव बना रहे हैं: संदीप यादव

इसी तरह विधायक संदीप यादव (MLA Sandeep Yadav) ने कहा कि जिन्होंने विश्वासघात कर पार्टी को अस्थिर बनाने की कोशिश की। साथ ही लोग अब सरकार पर मंत्रिमंडल विस्तार के लिए दबाव बना रहे हैं। उनकी वजह से अब तक सरकार गिर गई होती, हमारी वजह से सरकार बच गई है। ऐसी स्थिति में आलाकमान को उनकी बात नहीं सुननी चाहिए। बसपा से कांग्रेस में शामिल हुए राजेंद्र गुढ़ा, जोगिंदर अवाना और संदीप यादव के बयानों पर बात करते हुए पायलट समर्थक मुकेश भाकर ने जवाब दिया है।

संदीप यादव को लेकर उन्होंने कहा कि उन्होंने कहा कि संदीप यादव जी से यह बयान वसुंधरा ने दिलवाया होगा। संदीप कांग्रेस नेता दुरू मियां को हराने के बाद आए हैं। जिन लोगों ने बीएसपी के नाम पर उन्हें वोट दिया, वे उस समाज से झूठ बोलकर कांग्रेस में आ गए हैं। अगर ऐसे लोग बताएंगे कि देशद्रोही कौन है तो फिर पार्टी के लिए अच्छा नहीं होगा।

ALSO READ: Gandhi Dynasty in Congress: कांग्रेस की बैठकों में सिर्फ होगा चिंतन-मंथन, लेकिन अंतिम फैसला गांधी परिवार का

पहले खुद को परखें

पायलट ग्रुप के कांग्रेस विधायक इंद्रराज गुर्जर (Congress MLA Inderraj Gurjar) ने हमला करते हुए कहा कि जो विधायक अपनी ही पार्टी छोडक़र कांग्रेस में शामिल हुए, उन्होंने बसपा के साथ विश्वासघात किया है। संदीप यादव के बयान के बारे में उन्होंने कहा कि आज संदीप शीशराम ओला, विश्वेंद्र सिंह जैसे लोगों को गद्दार कह रहे हैं। जो कांग्रेस के स्तंभ हैं। ऐसे लोगों को अपने गिरेहबान में झांकना चाहिए।