Preparation of Punjab elections: भाजपा आलाकमान को चाहिए पंजाब की ग्राउंड रिपोर्ट, कराया जा रहा है सर्वे

Preparation of Punjab elections:भाजपा 23 सीटों पर चुनाव लड़ती रही है। 2017 के विधानसभा चुनाव में भाजपा और अकाली गठबंधन को बड़ी हार का सामना करना पड़ा था।

Preparation of Punjab elections: भाजपा आलाकमान को चाहिए पंजाब की ग्राउंड रिपोर्ट, कराया जा रहा है सर्वे

Preparation of Punjab elections:भले ही किसानों के आंदोलन (Farmers Movement) के कारण शिरोमणि अकाली दल द्वारा समर्थन छोडऩे (giving up support) के बाद पंजाब में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) हाशिए पर चली गई हो, लेकिन पार्टी 117 सीटों पर चुनाव लडऩे की घोषणा (declaration of election) पर पीछे नहीं हटी है। चुनावी दंगल में कूदने से पहले भाजपा प्रदेश भर में 17 बिंदुओं पर सर्वे करा रही है। यह सर्वे 45 दिन के भीतर पूरा कर लिया जाएगा। सर्वे की फाइनल रिपोर्ट प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सौंपी जाएगी।

117 सीटों के लिए उम्मीदवारों की तलाश

प्रदेश अध्यक्ष (State President) अश्विनी शर्मा ने कहा है कि अगर किसी समान विचारधारा वाली पार्टी के साथ उनका गठबंधन होता है तो भी 117 सीटों पर भाजपा के चुनाव चिन्ह पर चुनाव लड़ा जाएगा। उन्होंने कहा कि सर्वे में बीजेपी 117 सीटों पर उम्मीदवारों (candidates) की तलाश भी करेगी। गौरतलब है कि बीजेपी पंजाब में पहले ही घोषणा कर चुकी है कि अगर पंजाब में उसकी सरकार बनती है तो फिर सीएम दलित समुदाय से ही होगा। भाजपा का पूरा ध्यान फिलहाल सिर्फ दलित नेताओं पर केंद्रित है।

2017 में अकाली-भाजपा गठबंधन की हुई थी हार

भाजपा एसएडी के साथ गठबंधन (alliance)में 23 सीटों पर चुनाव लड़ा था। 2017 के विधानसभा चुनाव (Assembly elections) में भाजपा और अकाली गठबंधन (BJP and Akali Alliance) को बड़ी हार का सामना करना पड़ा था। राज्य की 117 विधानसभा सीटों में से अकाली दल को 15 और बीजेपी को सिर्फ 3 सीटें मिल सकीं जबकि कांग्रेस को 77 सीटें और आम आदमी पार्टी 20 सीटों के साथ नंबर दो पर विपक्षी पार्टी के रूप में उभरी।

ALSO READ: Punjab Congress became Kurukshetra: दस जनपथ में तैयार हो रहा है कैप्टन का रिपोर्ट कार्ड, 'गुरू' ने बताया फेल

इस बार भाजपा छोडऩे के बाद शिअद ने बसपा (BSP) के साथ मिलकर चुनाव लडऩे का फैसला किया है। अकाली दल ने बसपा को 20 सीटें दी हैं जबकि वह अपने दम पर 97 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। पंजाब में इस बार के विधानसभा चुनाव (Assembly elections) में सभी के बीच मुकाबला होने की संभावना है। कांग्रेस, अकाली दल, आम आदमी पार्टी और भारतीय जनता पार्टी ने अकेले चुनाव लडऩे का फैसला किया है।