Punjab Oxygen Crisis: सांसद निधि के पैसे से आक्सीजन प्लांट लगाने की तैयारी

Punjab Oxygen Crisis: राज्यसभा सदस्य प्रताप सिंह बाजवा ने कहा कि कैप्टन आक्सीजन की कमी का मुद्दा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के समक्ष उठाएं।

Punjab Oxygen Crisis: सांसद निधि के पैसे से आक्सीजन प्लांट लगाने की तैयारी

Punjab Oxygen Crisis: पंजाब में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच पंजाब से कांग्रेस के लोकसभा और राज्यसभा सदस्यों ने वीरवार को मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह से तीन घंटे की मैराथन बैठक की। बैठक में आक्सीजन सहित वैक्सीन और दवाओं की कमी को लेकर चर्चा की गई। इसके बाद राज्यसभा और लोकसभा सदस्यों ने कहा कि उनकी सांसद निधि का प्रयोग सरकारी अस्पतालों में आक्सीजन उत्पादन प्लांट स्थापित करने के लिए किया जाए। ताकि पड़ोसी राज्यों से पंजाब आकर इलाज करवाने वाले मरीजों के कारण बढ़ी आक्सीजन की मांग पूरी की जा सके।

कैप्टन ने कहा कि पंजाब आक्सीजन, टैंकरों, वैक्सीन और दवाओं की कमी ही नहीं बल्कि वेंटीलेटर के फ्रंट पर भी जूझ रहा है। केंद्र सरकार मिले 809 वेंटीलेटरों में से 108 को लगाने के लिए बीईएल इंजीनियर नहीं है। बैठक के दौरान राजनीतिक प्रतिद्वंद्विता को एक तरफ रखकर कैप्टन पर हमलावर रुख अपनाने वाले राज्यसभा सदस्य प्रताप सिंह बाजवा और शमशेर सिंह दूलो ने पंजाब में कोरोना से निपटने के कदमों की सराहना कर यह भी पूछा कि वह किस प्रकार मदद कर सकते हैं।

राज्यसभा सदस्य प्रताप सिंह बाजवा ने कहा कि कैप्टन आक्सीजन की कमी का मुद्दा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के समक्ष उठाएं। बोकारो से आक्सीजन मिलने में तीन दिन का समय लग रहा है जबकि पाकिस्तान से यह केवल एक घंटे में मिल जाएगी। इसलिए अगर चीन से दवाएं मंगवाई जा सकती हैं तो पाकिस्तान से आक्सीजन मंगवाने की अनुमति दी जाए। बाजवा के सुझाव का सांसद रवनीत सिंह बिट्टू और शमशेर सिंह दूलो ने भी समर्थन किया।

ALSO READ:-Corona Tsunami: कोरोना, कोरोना और सिर्फ कोरोना, फिर बनाया नया रिकार्ड

पंजाब में लगे पूर्ण लॉकडाउन

बैठक के दौरान पंजाब में पूर्ण लाकडाउन का मुद्दा भी उठा। राज्यसभा सदस्य बाजवा ने कहा कि क्योंकि हमारे पास मरीजों को संभालने के पर्याप्त संसाधन नहीं हैं इसलिए इसे लेकर पूरी स्टडी की जानी चाहिए। यह बड़ा मुश्किल भरा फैसला है। अगर लाकडाउन लगता है तो गरीबों के लिए आर्थिक संकट बढ़ जाएगा और नहीं लगाया जाता है तो मरीजों की संख्या बढ़ जाएगी। बाजवा ने राधा स्वामी डेरा ब्यास सहित मंदिरों व धार्मिक संस्थाओं को मदद के लिए आगे आ