राजस्थान: विधानसभा उपचुनाव से पहले युवाओं ने बढ़ाई गहलोत की टेंशन

युवाओं ने अपनी मांगें पूरी होने तक अभियान जारी रखने की बात कही। बेरोजगार युवाओं ने राजसमंद के बाद शुक्रवार यानि 5 मार्च को उदयपुर और उसके बाद सहाड़ा, भीलवाड़ा और सुजानगढ़ में अभियान की घोषणा की है।

राजस्थान: विधानसभा उपचुनाव से पहले युवाओं ने बढ़ाई गहलोत की टेंशन

जयपुर। राजस्थान की चार सीटों पर होने वाले विधानसभा उपचुनाव से पहले बेरोजगार युवाओं ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और सत्तारूढ़ कांग्रेस के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। बेरोजगारों ने राजस्थान में चार विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव में उम्मीदवारों को मैदान में उतारने की घोषणा की है और कांग्रेस को वोट नहीं देने का अभियान शुरू किया है। फिलहाल इन युवाओं ने सोशल मीडिया पर और राजसमंद विधानसभा क्षेत्र से राजस्थान की कांग्रेस सरकार के खिलाफ 'नो जॉब नो वोट नो' अभियान शुरू किया।

हालांकि इससे पहले, युवाओं ने ट्विटर पर 3.50 लाख से अधिक ट्वीट किए, 'कोई वोट नहीं तो कोई नौकरी नहीं'। इस मुद्दे को ट्विटर पर देश में पहले नंबर पर भी ट्रेंड किया गया था। राजसमंद विधानसभा उपचुनाव क्षेत्र के रामेश्वर महादेव मंदिर से 'नौकरी के लिए मतदान नहीं' अभियान शुरू हुआ। इस अभियान के तहत, युवा बेरोजगार राजसमंद विधानसभा क्षेत्र में 3 अलग-अलग स्थानों पर मिले और कांग्रेस को वोट न देने की अपील की।

युवाओं ने अपनी मांगें पूरी होने तक अभियान जारी रखने की बात कही। बेरोजगार युवाओं ने राजसमंद के बाद शुक्रवार यानि 5 मार्च को उदयपुर और उसके बाद सहाड़ा, भीलवाड़ा और सुजानगढ़ में अभियान की घोषणा की है। 10 मार्च से राजसमंद, उदयपुर, वल्लभनगर, चूरू, सुजानगढ़, भीलवाड़ा, सहाड़ा विधानसभा उपचुनाव के पोस्टर और फॉर्म वितरण अभियान शुरू किए जाएंगे।