Revolt of MLAs: कर्नाटक में भाजपा दो खेमों में बंटी, येदियुरप्पा गुट पहुंचेगा दिल्ली दरबार

Revolt of MLAs: विधायकों की बगावत (Revolt of MLAs) के बाद भी अटकलें लगाई जा रही हैं कि येदियुरप्पा अपनी कुर्सी पर बने रहेंगे। क्योंकि येदियुरप्पा विधायकों की मदद के बिना भी पार्टी को संभालने में कई बार सफल साबित हुए हैं।

Revolt of MLAs: कर्नाटक में भाजपा दो खेमों में बंटी, येदियुरप्पा गुट पहुंचेगा दिल्ली दरबार

Revolt of MLAs: नेतृत्व में बदलाव (change in leadership) को लेकर चल रही अटकलों के बीच कर्नाटक की राजनीति (Karnataka politics) में एक बार फिर हलचल तेज हो गई है। भाजपा इस समय मुख्यमंत्री (Chief Minister) को लेकर प्रदेश में दो खेमों में बंटी हुई है। कई विधायक इस समूह का समर्थन कर रहे हैं जो येदियुरप्पा को हटाने की मांग (Demand for removal of Yeddyurappa) कर रहा है। सूत्रों के मुताबिक येदियुरप्पा के समर्थन में चल रहे भाजपा विधायक (BJP MLA) उन्हें न हटाने की मांग करते हुए हस्ताक्षर किया हुआ पत्र हाईकमान को सौंपने जा रहे हैं।

जानकारी के अनुसार बता दें कि ऐसे 60 से ज्यादा विधायक हैं जो येदियुरप्पा का समर्थन (Yeddyurappa's support) कर रहे हैं। इस समय राज्य में भाजपा के 120 विधायक हैं। भाजपा विधायक रेणुका आचार्य (BJP MLA Renuka Acharya) ने एक न्यूज चैनल से बातचीत में कहा कि ऐसे 65 विधायक हैं जो पत्र पर हस्ताक्षर कर हाईकमान को भेजेंगे और कहेंगे कि येदियुरप्पा को नहीं हटाया जाना चाहिए।

कर्नाटक में भाजपा के लिए येदियुरप्पा सबसे बड़ा चेहरा

येदियुरप्पा (Yediyurappa) इस समय कर्नाटक में बीजेपी (BJP in Karnataka) के लिए सबसे बड़ा चेहरा हैं। हालांकि खुद येदियुरप्पा (Yediyurappa) अपने बयान में कह चुके हैं कि सीएम पद (CM post) के लिए राज्य में कई विकल्प मौजूद हैं। साथ ही विधायकों की बगावत के बाद भी अटकलें लगाई जा रही हैं कि येदियुरप्पा (Yediyurappa) अपनी कुर्सी पर बने रहेंगे। क्योंकि येदियुरप्पा (Yediyurappa) विधायकों की मदद (Help MLAs) के बिना भी पार्टी को संभालने में कई बार सफल साबित हुए हैं। इसलिए उन्हें हटाना इतना आसान नहीं है।

मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा (Yediyurappa) ने रविवार को कहा कि जिस दिन पार्टी आलाकमान (party high command) ने उन्हें पद से हटने को कहा, वह इस्तीफा दे देंगे । उन्होंने कहा कि जब तक भाजपा आलाकमान (party high command) को उन पर विश्वास है, तब तक वह शीर्ष पद पर आसीन रहेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर आलाकमान चाहेगा तो मैं इस्तीफा दे दूंगा।

आलाकमान कहेंगे तो मैं इस्तीफा दे दूंगा
 
येदियुरप्पा (Yediyurappa) ने उन्हें हटाने की कोशिशों पर पूछे गए सवाल के जवाब में कहा कि जब तक दिल्ली में आलाकमान (party high command) को मुझ पर विश्वास है, मैं मुख्यमंत्री (CM) रहूंगा। जिस दिन वे कहते हैं कि वे मुझे नहीं चाहते, मैं अपना इस्तीफा (resign) सौंप दूंगा । उन्होंने कहा, मुझे कोई भ्रम नहीं है। उन्होंने (हाईकमान ने) मुझे मौका दिया है, मैं कोशिश कर रहा हूं कि इस मौके का इस्तेमाल अपनी काबिलियत से बेहतर कुछ कर सकूं। बाकी आलाकमान पर है।

ALSO READ: Voice of Rebellion in Congress:राजस्थान में फिर बगावत की आहट और अगले महीने होगा कुछ बड़ा, विधायक का दावा

येदियुरप्पा (Yediyurappa) ने कहा, राज्य और देश में हमेशा एक विकल्प (options) रहेगा, इसलिए मैं इस बात से सहमत नहीं हूं कि कर्नाटक में मेरी जगह लेने वाला कोई नहीं है, लेकिन जब तक आलाकमान को मुझ पर विश्वास है, मैं मुख्यमंत्री (CM) बना रहूंगा।