Satta on Five States Election Results: जानें पांच राज्यों के चुनाव में कितने अरब का लगा है सट्टा, किस राज्य में कौन बना रहा है सरकार?

Satta on Five States Election Results: विधानसभा चुनाव 2021 में पांच राज्यों में चुनाव हो चुके हैं और अब सबकी नजर चुनाव परिणाों (election results) में लगी हुई है।

Satta on Five States Election Results: जानें पांच राज्यों के चुनाव में कितने अरब का लगा है सट्टा, किस राज्य में कौन बना रहा है सरकार?

Satta on Five States Election Results:बंगाल में आज विधानसभा चुनाव का आठवां चरण (eighth phase of the assembly elections) खत्म हो गया है और अब सबकी नजर दो मई को होने वाली काउंटिंग पर लगी है। जिसमें साफ हो जाएगा कि किस राज्य में कौन सा सियासी दल सरकार बनाएगा। लेकिन इन चुनावों पर सट्टा बाजार भी गर्म है। आज मतदान के बाद माना जा रहा है कि अगले चार दिनों तक सट्टा बाजार (Satta Bazar) अपने भाव को घोषित कर सकता है।

वहीं सट्टा बाजार के जानकार कहते हैं कि इस बार सट्टा बाजार में लोकसभा चुनाव ( Satta Bazar than the Lok Sabha elections) से ज्यादा पैसा लगा हुआ है। वहीं सट्टा बाजार की नजर बंगाल पर ज्यादा लगी है। तमिलनाडु, केरल, असम के लिए सट्टा बाजार में भाव कम लगा है और सबसे ज्यादा पैसा सटोरियों ने बंगाल चुनाव में लगाया (bookies have invested the most money in the Bengal elections) हुआ है।

विधानसभा चुनाव 2021 में पांच राज्यों में चुनाव हो चुके हैं और अब सबकी नजर चुनाव परिणाों (election results) में लगी हुई है। वहीं बाजार के जानकारों का कहना है कि इन पांच राज्यों के चुनाव में सट्टा बाजार करीब 25 हजार करोड़ से ज्यादा का पैसा लगा हुआ है। ये लोकसभा चुनाव से ज्यादा माना जा रहा है। हालांकि हर चुनाव में देश के विभिन्न हिस्सों के सट्टा बाजार में पैसा लगाया जाता है। लेकिन बताया जा रहा है कि इस बार चुनाव में अन्य चुनावों की तुलना में ज्यादा पैसा सटोरियों ने बंगाल में लगाया है। 

देश के पांच राज्यों-बंगाल, असम, तमिलनाडु, केरल और पुडुचेरी में दो मई को चुनाव परिणाम घोषित होंगे, जिसके बाद माना जा रहा है कि देश की राजनीति की दिशा बदलेगी। फिलहाल सट्टा बाजार में सबसे ज्यादा पैसा बंगाल में लगा हुआ है। यहां करीब 15 हजार करोड़ से ज्यादा पैसा सट्टा बाजार (Satta Bazar)  में लगा हुआ है। बंगाल में सट्टा बाजार में सबसे ज्यादा भाव कांग्रेस और वाम दलों (Congress and the Left parties) पर लगाया है। जबकि टीएमसी में कम और सबसे कम भाव बीजेपी पर लगा हुआ है। सट्टा बाजार (Satta Bazar) का दावा है कि राज्य की 294 सीटों वाली विधानसभा (state's 294-seat assembly) में टीएमसी 115-120 सीटों को पार नहीं सकेगी। क्योंकि बीजेपी ने हर चरण के लिए अलग रणनीति तैयार की थी और चार चरण के बाद बीजेपी तेजी से टीएमसी से आगे निकल गई है। हालांकि बीजेपी भी दावा करती है कि वह बंगाल में 200 से ज्यादा सीटें जीतेगी।

ALSO READ:-Satta bazar on west bengal Election: सट्टा बाजार बता रहा है किसकी बन रही है सरकार और किसका बढ़ा भाव

बंगाल में बीजेपी की सरकार बना रहा है सट्टा बाजार (Satta Bazar) 

सट्टा बाजार  (Satta Bazar)  फिलहाल बंगाल में बीजेपी ( Bengal Satta Bazar) की सरकार (BJP government in Bengal) बना रहा है। सट्टा बाजार  (Satta Bazar)  के जानकारों का कहना है कि इस बार टीएमसी 120 से ज्यादा सीटें नहीं ला पाएगी। क्योंकि बीजेपी ने जो रणनीति बनाई थी उसमें वह सफल हुई है और राज्य में बीजेपी को 200 सीटें भी मिल सकती (BJP can get 200 seats in the state) हैं। लिहाजा सट्टा बाजार ने सबसे कम भाव बीजेपी (Satta Bazaar gave the lowest price to BJP) को दिया।

चार राज्यों में किसकी सरकार बना रहा है सट्टा बाजार?

फिलहाल देश के चार राज्यों में भी 10 हजार करोड़ का सट्टा  (10 thousand crores in four states)  लगा हुआ है। इसके साथ ही सट्टा बाजार असम में बीजेपी की सरकार बना रहा (satta Bazaar is forming the BJP government in Assam) है। जबकि तमिलनाडु में डीएमके और कांग्रेस गठबंधन को उसने सबसे कम भाव दिया है। जबकि एआईडीएमके और बीजेपी गठबंधन को ज्यादा भाव दिया है। वहीं केरल में एलडीएफ ( LDF government in Kerala) की सरकार को सट्टा बाजार  (Satta Bazar)  ने कम भाव दिया है। जबकि यूडीएफ को सट्टा बाजार  (Satta Bazar)  ने ज्यादा भाव दिया है। वहीं पुडुचेरी में सट्टा बाजार (Satta Bazar) एनडीए की सरकार बना रहा है और उसने एनडीए को कम भाव दिया है।

ALSO READ:-Satta Bazar in West Bengal Election 2021: इस बार कंफ्यूज हो गया है सट्टा बाजार!

अभी तक सच साबित हुई हैं सट्टा बाजार  (Satta Bazar)  की भविष्यवाणियां

अभी तक सट्टा बाजार ने चुनावों को लेकर जो भी भविष्यवाणियां की है। जो सच साबित हुई हैं। लोकसभा चुनाव में सट्टा बाजार ने सबसे कम भाव एनडीए को दिया था। जबकि दिल्ली चुनाव में सट्टा बाजार ने आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) की सरकार बनने का दावा किया था। वहीं सट्टा बाजार ने मध्य प्रदेश के लिए भी भविष्यवाणी की थी और कहा था कि राज्य में कमलनाथ सरकार (Kamal Nath government) एक साल में गिर जाएगी और ऐसा ही हुआ। वहीं पिछले साल बिहार चुनाव के लिए भी सट्टा बाजार ने एनडीए की सरकार (NDA government) बनने का दावा किया था।

(NOTE-www.Galiyara.Net किसी अवैध सट्टे को सपोर्ट नहीं करता है और ये गैरकानूनी है। ये खबर बातचीत के आधार पर लिखी गई है।)