सनी लियोन (Sunny leone) को केरल उच्च न्यायालय से मिली राहत, जानें क्या है मामला

फिल्म स्टार सनी लियोन (Sunny leone) कभी भी गिरफ्तार हो सकती हैं। क्राइम ब्रांच (Kocchi crime brance) ने नी लियोन (Case on Sunny leone), उसके पति (Sunny leone husband)और अन्य से पूछताछ की है। अब गिरफ्तार होने के डर से, उन्होंने केरल उच्च न्यायालय में याचिका दायर की और अग्रिम जमानत मांगी।

सनी लियोन (Sunny leone) को केरल उच्च न्यायालय से मिली राहत, जानें क्या है मामला

कोच्चि। बॉलीवुड अभिनेत्री सनी लियोन (Sunny leone)  ने केरल उच्च न्यायालय में अग्रिम जमानत के लिए याचिका दायर की है और खबर आ रही है कि उन्हें केरल उच्च न्यायालय ने राहत देते हुए अग्रिम जमानत दी है। असल में यह मामला एक इवेंट कंपनी की ओर से दायर किया गया था। इवेंट कंपनी का आरोप है कि सनी लियोन ने 2019 में कंपनी द्वारा आयोजित एक वेलेंटाइन डे कार्यक्रम में भाग लेने के लिए लगभग 29 लाख रुपये लिए लेकिन उसके बावजूद वह कार्यक्रम में शामिल नहीं हुईं।

जमानत के लिए दायर याचिका सनी लियोनी उर्फ ​​करनजीत कौर वोहरा, लियोनी के पति डेनियल वेबर और एक अन्य व्यक्ति की ओर से दायर की गई है। आवेदन में कहा गया है कि वे निर्दोष हैं और जांच में सहयोग करने के लिए तैयार हैं। उन्होंने यह भी दावा किया है कि उनके खिलाफ कोई आपराधिक मामला नहीं बनता है।

लियोनी ने कहा कि अगर रिमांड पर लिया गया तो बड़ा नुकसान होगा

याचिकाकर्ताओं ने यह भी कहा है कि अगर उन लोगों को गिरफ्तार किया जाता है तो उससे उन्हें आर्थिक नुकसान होगा। लियोन से पिछले हफ्ते 3 फरवरी को तिरुवनंतपुरम में कोच्चि क्राइम ब्रांच के अधिकारियों ने पूछताछ की थी। सनी ने कहा कि जब उन्हें पूछताछ के लिए बुलाया गया, तो उन्हें पता चला कि उनके खिलाफ आईपीसी की धारा 406 और 420 और अन्य धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया था।

सनी लियोन ने दस्तावेज सौंपे

सनी लियोनी और अन्य ने यह भी कहा कि उन्होंने अधिकारियों के साथ पूरा सहयोग किया है। उन्हें तथ्यों और परिस्थितियों से अवगत कराया जाता है। याचिकाकर्ताओं ने कहा कि उन्होंने अपने और शिकायतकर्ता के बीच लेनदेन के दस्तावेज भी सौंपे हैं। यह भी कहा गया है कि जिस व्यक्ति ने उनके खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है, उसने मुआवजे के रूप में 2 करोड़ रुपये की मांग की है। वहीं आयोजक का कहना है कि सनी ने दो बार कार्यक्रम को रद्द किया।