UP Panchayat elections Election Result: मुलायम के गढ़ में जानें क्या है पंचायत चुनाव परिणाम का हाल

UP Panchayat elections Election Result: जिले में पंचायत चुनाव (panchayat elections) के लिए 19 अप्रैल को मतदान हुआ था। रविवार को सुबह आठ बजे से इन चार पदों के लिए डाले गए मतों की गिनती शुरू करने की व्यवस्था की गई थी।

UP Panchayat elections Election Result: मुलायम के गढ़ में जानें क्या है पंचायत चुनाव परिणाम का हाल

UP Panchayat elections Election Result:  मुलायम सिंह के संसदीय क्षेत्र मैनपुरी में पंचायत चुनाव के विभिन्न पदों के लिए कोरोना कर्फ्यू के बीच रविवार को एक घंटे की देरी हुई। मतगणना सुबह आठ बजे से मतगणना स्थलों पर न्याय पंचायत (Nyaya Panchayat) वार होनी थी। लेकिन मतगणना समय पर गिनती और अन्य समस्याओं के कारण निर्धारित समय पर शुरू नहीं हो सकी।

जिले में पंचायत चुनाव (panchayat elections) के लिए 19 अप्रैल को मतदान हुआ था। रविवार को सुबह आठ बजे से इन चार पदों के लिए डाले गए मतों की गिनती शुरू करने की व्यवस्था की गई थी। जिले में सुबह 5 बजे से बने 9 मतगणना स्थलों पर भी तैयारी शुरू हो गई थी। मतगणना कर्मियों को सुबह 6 बजे मतगणना स्थलों पर पहुंचना था। लेकिन मतगणना कर्मी देर से अधिकांश स्थलों पर पहुंचे। बरनाहल ब्लॉक के चुनाव अधिकारी इंदिरा सिंह ने कहा कि 30 से 40 प्रतिशत मतगणना कर्मी 9 बजे तक यहां नहीं आए, जिसके कारण मतगणना समय पर शुरू नहीं हो सकी। जिन कर्मचारियों को रिजर्व में नियुक्त किया गया था, वे मौजूद थे और उनकी गिनती की गई थी। मतगणना सुबह 9 बजे बरनाहल ब्लॉक में शुरू हुई।

देरी से हुई मतगणना

असल में सुबह नौ बजे के बाद किशनी में मतगणना के लिए मतपेटियों की भी गिनती की जा सकी थी और 7 बजे कर्मचारियों के साथ उम्मीदवारों और उनके एजेंटों को यहां प्रवेश दिया गया। लेकिन कोरोना संकट को देखते हुए बाद में उन्हें निकाल दिया। एसडीएम आरएस मौर्य ने पुलिस बल के साथ उम्मीदवारों और समर्थकों को कोरोना गाइड लाइन का पालन करने के निर्देश दिए। सुबह 9 बजे बॉक्स को टेबल पर लाया गया, जिसके बाद यहां गिनती शुरू की गई।

AlSO READ:-UP Panchayat election: यूपी पंचायत चुनाव में अब तक 135 शिक्षकों की मौत, हाईकोर्ट ने लगाई फटकार

टूटे कोरोना के नियम

मैनपुरी ब्लॉक की मतगणना कुरावली रोड स्थित डॉ. किरण सौजिया सीनियर सेकेंडरी स्कूल में शुरू हुई और यहां पर सुबह से ही भीड़ जमा हो गई थी। उम्मीदवार और उनके एजेंट लाइन में लगकर दृश्य में प्रवेश करने लगे तो बाद में पुलिस ने सख्ती की। यहां पर आए लोग कोरोना की गाइड लाइन का पालन नहीं करते दिखे।