Uttar Pradesh:यूपी में अब मेडिकल स्टाफ और आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को मिलेगा 25% अतिरिक्त मानदेय

Uttar Pradesh: राज्य सरकार के मुताबिक कोरोना वारियर्स के लिए अतिरिक्त मानदेय भी प्रदान किया जाएगा। यह अतिरिक्त मानदेय भी ड्यूटी के बाद उनके आइसोलेशन की अवधि के लिए दिया जाएगा।

Uttar Pradesh:यूपी में अब मेडिकल स्टाफ और आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को मिलेगा 25% अतिरिक्त मानदेय

Uttar Pradesh: उत्तर प्रदेश सरकार ( Uttar Pradesh government) ने कोरोना संकट ( Corona crisis) के बीच फ्रंटलाइन वर्कर्स (frontline workers ) के रूप में कार्य कर रहे मेडिकल स्टॉफ और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को 25 फीसदी अतिरिक्त मानदेय देने का ऐलान किया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Chief Minister Yogi Adityanath) ने कहा है कि अस्पतालों में काम करने वाले चिकित्सकों, नर्सिंग कर्मचारियों को कोविड सेवा के दिनों के लिए मौजूदा वेतन-मानदेय का 25 प्रतिशत अतिरिक्त भुगतान किया जाएगा। इसी तरह, सभी स्वास्थ्य कर्मचारियों, डॉक्टरों, पैरामेडिकल स्टाफ, हाउसकीपिंग स्टाफ, स्वच्छता कर्मचारियों, आशा और आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं आदि को कोविद से संबंधित कार्य के लिए प्रोत्साहन के रूप में अतिरिक्त मानदेय दिया जाएगा।

राज्य सरकार के मुताबिक कोरोना वारियर्स के लिए अतिरिक्त मानदेय भी प्रदान किया जाएगा। यह अतिरिक्त मानदेय भी ड्यूटी के बाद उनके आइसोलेशन की अवधि के लिए दिया जाएगा। मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि कोविद सेवा कार्य में मेडिकल और नर्सिंग अंतिम वर्ष के छात्रों की सेवाओं का भी लाभ उठाया जाएगा। उन्होंने कहा कि सेवानिवृत्त स्वास्थ्य कर्मियों, अनुभवी चिकित्सकों, पूर्व सैनिकों के अनुभवों का भी लाभ उठाया जाना चाहिए। उन्हें कोविड के काम से भी जोड़ा जाना चाहिए। सभी को नियमानुसार मानदेय दिया जाएगा। इस संबंध में एक आदेश जल्द से जल्द जारी किया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने कोविड -19 (Covid-19) को रोकने के लिए टीम 9 की बैठक में सोमवार को ये निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि राज्य में ऑक्सीजन (Oxygen) की आपूर्ति में सुधार के लिए सभी आवश्यक प्रयास किए जा रहे हैं। रविवार को, सात सौ मीट्रिक टन ऑक्सीजन की आपूर्ति की गई है। ऑक्सीजन ऑडिट की प्रारंभिक रिपोर्टों के आधार पर अनावश्यक खपत को कम करना। नाइट्रोजन प्लांट से ऑक्सीजन गैस बनाने के लिए भी तकनीकी बदलाव कर प्रक्रिया की जा रही है। ऑक्सीजन एक्सप्रेस (Oxygen Express) अगले एक-दो दिनों में 40 टन ऑक्सीजन के साथ जामनगर (गुजरात) से आएगी। इसी तरह, जमशेदपुर से 10 टैंकरों वाली एक ट्रेन यूपी पहुंच रही है। टैंकर भी पश्चिम बंगाल से ऑक्सीजन की आपूर्ति कर रहा है।

ALSO READ:-Corona havoc on Bureaucracy: यूपी में जारी है कोरोना का कहर, आईएएस दीपक त्रिवेदी की कोरोना से मौत

कमांड सेंटरों को अधिक प्रभावी बनाया जाएगा

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविद एकीकृत नियंत्रण और कमांड सेंटर से रोगी के संवेदनशील रिश्तेदारों के इलाज की उम्मीद है। इस आपदा में हमारा सहकारी रवैया परिवार के लिए एक बड़ा सहारा होगा। यदि कोई व्यक्ति किसी मरीज के लिए ऑक्सीजन सिलेंडर की रिफिलिंग के लिए जा रहा है, तो उसे यथासंभव सहयोग करने से नहीं रोका जाना चाहिए। कोविद प्रबंधन में एकीकृत कोविद कमांड सेंटर की एक महत्वपूर्ण भूमिका है। सभी जिलों में इसे और प्रभावी बनाने की आवश्यकता है। स्वास्थ्य राज्य मंत्री ने लखनऊ के ICCC के औचक निरीक्षण से व्यवस्था का निरीक्षण किया।