Violence started in Bengal: बंगाल में शुरू हुआ हिंसा का दौर, टीएमसी कार्यकर्ताओं के हमले में अब तक 4 लोगों की मौत

Violence started in Bengal: पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव (Bengal elections) के नतीजे आ गए हैं और राज्य में तृणमूल कांग्रेस ने बड़ी जीत हासिल की है। लेकिन चुनाव परिणाम के बाद से राज्य के विभिन्न क्षेत्रों में हिंसा जारी है।

Violence started in Bengal: बंगाल में शुरू हुआ हिंसा का दौर, टीएमसी कार्यकर्ताओं के हमले में अब तक 4 लोगों की मौत
सांकेतिक तस्वीर

Violence started in Bengal: पश्चिम बंगाल के चुनाव (Bengal elections) परिणामों के बाद से ही बंगाल के विभिन्न क्षेत्रों में हिंसा जारी है। नंदीग्राम में सोमवार को भी हंगामा हुआ और भारतीय जनता पार्टी के कार्यालय में तोड़फोड़ करने की कोशिश की गई। नंदीग्राम के साथ ही राज्य के कई हिस्सों में टीएमसी कार्यकर्ताओं द्वारा बीजेपी कार्यकर्ताओं को निशाना बनाया जा रहा है।

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव (Bengal elections)  के नतीजे आ गए हैं और राज्य में तृणमूल कांग्रेस ने बड़ी जीत हासिल की है। लेकिन चुनाव परिणाम के बाद से राज्य के विभिन्न क्षेत्रों में हिंसा जारी है। नंदीग्राम में सोमवार को भी हंगामा हुआ और भारतीय जनता पार्टी के कार्यालय में तोड़फोड़ करने की कोशिश की गई। इसके अलावा कार्यालय को आग लगाने की कोशिश की गई।

भारतीय जनता पार्टी ने आरोप लगाया है कि तृणमूल कांग्रेस (TMC) के कार्यकर्ताओं ने यह सब किया है। न केवल भाजपा कार्यालय, बल्कि कई दुकानों और घरों में तोड़फोड़ की गई। बीजेपी का आरोप है कि तोड़फोड़ के बाद जब पुलिस मौके पर पहुंची तो यात्री भाग खड़े हुए। इस घटना के बाद नंदीग्राम बाजार इलाके में तनाव बढ़ गया है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी खुद नंदीग्राम से चुनाव हार गई हैं। ममता बनर्जी को भारतीय जनता पार्टी के सुवेंदु आदिकारी ने हराया है।

चुनाव नतीजों के बाद शुरू हुई हिंसा में चार लोगों की मौतें

चुनाव परिणामों (Bengal elections)  के बाद से पश्चिम बंगाल में हिंसा हो रही है। रविवार से बंगाल में हिंसा के बाद चार लोगों की मौत हो गई है। इसमें दक्षिण 23 परगना में भाजपा के कार्यकर्ता, नादिया, वर्धमान में टीएमसी (TMC) और उत्तर 24 परगना में आईएसएफ कार्यकर्ता अपनी जान गंवा चुके हैं। वहीं कोलकाता के उल्टाडांगा इलाके में एक भाजपा कार्यकर्ता की पिटाई करने और उसकी हत्या करने का आरोप टीएमसी (TMC) पर लगा है। इसके अलावा, दक्षिण 24 परगना के सोनारपुर में भी एक भाजपा कार्यकर्ता की हत्या कर दी गई। बताया जा रहा है कि तृणमूल कार्यकर्ताओं ने भाजपा कार्यकर्ता की पिटाई की और इसमें उसकी मौत हो गई।

बंगाल में नतीजों के बाद से ही शुरू हो गई थी हिंसा

असल में चुनाव परिणाम (Bengal elections)  आने के बाद से बंगाल के विभिन्न इलाकों में हिंसा की खबरें आने लगी थी। रविवार को बंगाल के दुर्गापुर में एक भाजपा कार्यालय में आग लगा दी गई। दुर्गापुर पश्चिम से भाजपा के विजयी प्रत्याशी लखन ने आरोप लगाया कि टीएमसी (TMC) कार्यकर्ता रात भर बाइक पर घूमते रहे और उन्होंने भाजपा कार्यकर्ताओं को नुकसान पहुँचाया। वहीं हुगली के आरामबाग में राजनीतिक हिंसा देखी गई।

ALSO READ:-Bengal elections: टीएमसी के गढ़ में बीजेपी की एंट्री से मुश्किल में दीदी

यहां तृणमूल कांग्रेस (TMC) के समर्थकों ने भाजपा कार्यकर्ताओं के घरों, दुकानों पर हमला किया। इस अवधि के दौरान कई जगहों पर लूटपाट और तोड़फोड़ की गई। बीजेपी का आरोप है कि उनके कार्यकर्ताओं की दो मोबाइल की दुकानों, एक कपड़े की दुकान को नष्ट कर दिया गया।