Weather forecast: गर्मी ने तोड़ा 120 साल का रिकार्ड, इस बार झुलाएगी गर्मी

दिल्ली में फरवरी का महीना 1901 के बाद दूसरा सबसे गर्म महीना था। महीने के दौरान अधिकतम तापमान सामान्य से 4 डिग्री अधिक था, जिसने मार्च के महीने को गर्म बना दिया।

Weather forecast: गर्मी ने तोड़ा 120 साल का रिकार्ड, इस बार झुलाएगी गर्मी

नई दिल्ली। देश के अधिकांश हिस्सों में मार्च के पहले दिन से ही गर्मी का एहसास होने लगा है। मौसम विभाग ने अपने पूर्वानुमान में कहा है कि मार्च से मई के दौरान उत्तर, पूर्व और पश्चिम भारत के कुछ हिस्सों में दिन का तापमान सामान्य से ऊपर रह सकता है। हालांकि, दक्षिण भारत और इसके आस-पास के क्षेत्रों में तापमान सामान्य से कम रह सकता है। IMD ने यह बात मार्च से मई तक गर्मियों के मौसम को लेकर रिपोर्ट में कही है।

भारतीय मौसम विभाग (IMD) ने मंगलवार को कहा कि उत्तर भारत में तापमान मार्च से मई के दौरान सामान्य से अधिक रहेगा। आईएमडी के राष्ट्रीय मौसम पूर्वानुमान केंद्र के अनुसार, उत्तर भारत, उत्तर पश्चिम और पूर्वोत्तर भारत के अलावा, मध्य भारत के पूर्वी और पश्चिमी हिस्सों के कुछ हिस्सों और उत्तर भारत के तट के पास के क्षेत्रों में सामान्य तापमान से अधिक रहेगा। 

भारत के इन हिस्सों में रातें होंगी गर्म

आईएमडी के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र ने कहा कि पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, पूर्वी और पश्चिमी उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़, झारखंड से लेकर ओडिशा तक के गंगा के मैदानी इलाकों में तापमान मार्च से मई के दौरान 0.5 डिग्री सेल्सियस से ऊपर रह सकता है। उन्होंने कहा कि 75 प्रतिशत संभावना है कि छत्तीसगढ़ और ओडिशा में तापमान क्रमशः 0.86 डिग्री सेल्सियस और 0.66 डिग्री सेल्सियस से ऊपर रहेगा। आईएमडी ने कहा कि वह अप्रैल में जून के लिए दूसरा ग्रीष्मकालीन पूर्वानुमान जारी करेगा।

यह भी पढ़ें:- बेईमान मौसम में दिख रहा पश्चिमी विक्षोभ का असर

मौसम ने बनाया 120 का रिकार्ड

जानकारी के मुताबिक दिल्ली में फरवरी का महीना 1901 के बाद दूसरा सबसे गर्म महीना था। महीने के दौरान अधिकतम तापमान सामान्य से 4 डिग्री अधिक था, जिससे यह महीना गर्म ज्यादा गर्म रहा। देश में इस साल जनवरी में सबसे कम तापमान पिछले 62 सालों में सबसे गर्म दर्ज किया गया। आईएमडी ने बताया कि दक्षिण भारत विशेष रूप से गर्म था। यह महीना 121 वर्षों में सबसे गर्म था और दक्षिण भारत में तापमान 22.33 डिग्री सेल्सियस था।